तेलंगाना की TRS सरकार पर सोनिया गांधी का हमला, KCR सिर्फ अपने और अपने करीबियों के लिए काम कर रहे

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने शुक्रवार को तेलंगाना की टीआरएस (TRS) सरकार पर जमकर निशाना साधा.

तेलंगाना की TRS सरकार पर सोनिया गांधी का हमला, KCR सिर्फ अपने और अपने करीबियों के लिए काम कर रहे

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने तेलंगाना की टीआरएस सरकार पर जमकर हमला बोला.

खास बातें

  • सोनिया, राहुल की तेलंगाना में रैली
  • टीआरएस सरकार पर साधा निशाना
  • तेलंगाना में 7 दिसंबर को होना है चुनाव
हैदराबाद :

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने शुक्रवार को तेलंगाना की टीआरएस (TRS) सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि तेलंगाना सरकार ने दलितों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं और छात्रों की अनदेखी की है और मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (KCR) केवल अपने लिए और अपने करीबियों के लिए काम कर रहे हैं. सोनिया ने कहा कि तेलंगाना के गठन के बाद जो विकास अपेक्षित था वह राव सरकार के कार्यकाल में नहीं हुआ.

यह भी पढ़ें : तेलंगाना विधानसभा चुनाव : 'मौके पर चौका' मारने की कला का नाम है के. चंद्रशेखर राव

सोनिया ने मेडचल में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'मुख्यमंत्री राव ने केवल अपने और अपने करीबी लोगों की देखभाल की है और एक बच्चे (तेलंगाना) को परेशानी में छोड़ दिया. वहीं, रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि तेलंगाना में टीआरएस शासन अब समाप्त होने वाला है. सोनिया ने कहा, 'दलितों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों, पिछड़े वर्गों, महिलाओं और छात्रों की अनदेखी की गई. मुख्यमंत्री को यह बताना चाहिए कि उन्होंने उनसे क्या वादे किये और और किन पर अमल किया.'
 

45n84b98
यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी चुनावी रैली के दौरान.

जून 2014 में तेलंगाना राज्य के गठन के बाद सोनिया पहली बार प्रदेश के दौरे पर आई हैं. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने के लिए प्रतिबद्ध है. यूपीए-2 सरकार के दौरान तेलंगाना राज्य का गठन किया गया था. 

VIDEO: तेलंगाना विधानसभा भंग

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सोनिया ने कहा कि हमें आंध्र प्रदेश के लोगों के दर्द का भी अहसास था और इसलिये हमने खास योजनाएं बनाई थी और उन्हें विशेष दर्जा देने का फैसला किया था. उन्होंने रैली में पहुंचे लोगों से पूछा कि तेलंगाना के जन्म के समय जो सपने आपने देखे थे, उनमें से पिछले चार सालों में कितने पूरे हुए? किसानों के लिए कुछ करना तो दूर, यहां की टीआरएस सरकार ने यूपीए सरकार के भूमि अधिग्रहण कानून को भी जानबूझकर नज़रअंदाज किया. बता दें कि तेलंगाना में 7 दिसंबर को मतदान होने हैं.

(इनपुट: भाषा से भी)