NDTV Khabar

शिवराज सिंह चौहान खुद तो बच गए, पर उनके 11 मंत्री नहीं बचा पाए अपनी सीट, जानें किस-किस ने दी शिकस्त

कांग्रेस को 230 सीटों में से 114 पर जीत हासिल हुई है, वहीं दूसरे नंबर पर भाजपा रही जिसके खाते में 109 सीटें आई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवराज सिंह चौहान खुद तो बच गए, पर उनके 11 मंत्री नहीं बचा पाए अपनी सीट, जानें किस-किस ने दी शिकस्त

भाजपा के हिस्से में 109 सीटें आई हैं.

खास बातें

  1. 114 सीटों के साथ कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी
  2. बहुमत से दो सीट दूर रही गई कांग्रेस
  3. दूसरे नंबर पर रही भाजपा
भोपाल:

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी सीट बचाने में तो कामयाब रहे, लेकिन उनके 11 मंत्री अपनी सीट भी नहीं बचा पाए. कांग्रेस को 230 सीटों में से 114 पर जीत हासिल हुई है, वहीं दूसरे नंबर पर भाजपा रही जिसके खाते में 109 सीटें आई हैं. इसके अलावा बसपा ने दो, सपा ने एक और अन्य ने चार सीटों पर कब्जा किया है. कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से दो सीट दूर रह गई. शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी सीट पर कांग्रेस के अरुण सुभाष चंद्र को करीब 59 हजार वोटों से हराया है.

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक भोपाल दक्षिण-पश्चिम सीट से भाजपा के उमाशंकर गुप्ता कांग्रेस के पीसी शर्मा से 6032 वोटों से हार गए. जबलपुर उत्तर सीट से शरद जैन को कांग्रेस के विनय सक्सेना ने 578 वोटों से रहा दिया. वहीं ग्वालियर सीट से कांग्रेस के प्रधुम्न सिंह तोमर ने भाजपा के मंत्री जयभान पवैया को 11093 वोटों से हराया है. देवास की हाटपीपल्या सीट से भाजपा के मंत्री दीपक जोशी कांग्रेस के मनोज सिंह चौधरी 13519 वोटों से हा गए. इसके अलावा सेंधवा से भाजपा के मंत्री अंतरसिंह आर्य कांग्रेस के ग्यारसीलाल रावत से 17878 वोटों से हार गए.


राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस ने इन तीन दिग्गजों को सौंपी कमान

बड़ा मलहरा सीट की बात करें तो भाजपा की मंत्री ललिता यादव कांग्रेस के कुंवर प्रद्मुम्न सिंह लोधी से 15779 वोटों से हार गईं. मुरैना से भाजपा के मंत्री रुस्तम सिंह को कांग्रेस प्रत्याशी रघुराज सिंह ने करीब 20 हजार वोट से हरा दिया. डिंडौरी की शहपुरा सीट से भाजपा के मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे कांग्रेस के भूपेंद्र मरावी से करीब 34 हजार वोट से हार गए. खरगोन से भाजपा के मंत्री बालकृष्ण पाटीदार करीब दस हजार वोट से कांग्रेस के रवि चंद्र जोशी से हारे हैं. भिंड की गोहद से भाजपा के मंत्री लाल सिंह आर्य कांग्रेस के रणवीर जाटव से 24 हजार वोट से हा गए. बुरहानपुर से भाजपा की मंत्री अर्चना चिटनीस को निर्दलीय ने छह हजार वोट से शिकस्त दी है.

मध्य प्रदेश में बहुमत के जादुई आंकड़े से दो कदम दूर रह गई कांग्रेस, जानें अब क्या होगा सियासी समीकरण

बता दें, मध्‍यप्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों के नतीजे आ चुके हैं. बुधवार सुबह चुनाव आयोग ने फाइनल आकड़ें जारी किए हैं. यहां कांग्रेस ने 114 सीटों पर जीत हासिल की है, वहीं भाजपा 109 सीटों पर रह गई. हालांकि, कांग्रेस बहुमत के जादूई आंकड़े 116 से दो सीट दूर रह गई. वहीं दो सीटें बहुजन समाज पार्टी, एक समाजवादी पार्टी और चार निर्दलीय उम्मीदवारों के हिस्से में गई हैं. 

टिप्पणियां

मध्य प्रदेश में बहुमत का आंकड़ा नहीं छू पाई कांग्रेस, सत्ता बचाने का अब बीजेपी के पास ये है आखिरी रास्ता!

मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने राज्यपाल से मिलने का मांगा समय



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement