NDTV Khabar

CM गहलोत के शपथ ग्रहण में जब सारे मतभेद भूल वसुंधरा ने भतीजे ज्योतिरादित्य को लगाया गले

वसुंधरा राजे ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया की बहन हैं. माधवराव सिंधिया की साल 2001 में प्लेन हादसे में मौत हो गई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CM गहलोत के शपथ ग्रहण में जब सारे मतभेद भूल वसुंधरा ने भतीजे ज्योतिरादित्य को लगाया गले

यह तस्वीर काफी शेयर की जा रही है.

खास बातें

  1. वसुंधरा ने ज्योतिरादित्य को लगाया गले
  2. अशोक गहलोत और सचिन पायलट को दी बधाई
  3. राहुल गांधी के साथ की गर्मजोशी से मुलाकात
नई दिल्ली:

राजस्थान में सोमवार को अशोक गहलोत के शपथ ग्रहण समारोह में एक खूबसूरत पल देखने को मिला. जब सारे मतभेद भूल वसुंधरा राजे ने अपने भतीजे ज्योतिरादित्य सिंधिया को गले लगा लिया. वसुंधरा राजे ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया की बहन हैं. माधवराव सिंधिया की साल 2001 में प्लेन हादसे में मौत हो गई थी. ज्योतिरादित्य सिंधिया को गले लगाए वसुंधरा राजे की तस्वीर काफी वायरल हो रही है. तस्वीर में देखा जा सकता है कि वसुंधरा ने ज्योतिरादित्य को गले लगा रखा है और स्नेह से उनकी आंखें बंद हैं. 

बुआ राजे ने केसरिया रंग की साड़ी पहन रखी थी, जबकि भतीजे ज्योतिरादित्य ने सफेद रंग का कुर्ता और नेवी ब्लू कलर की जैकेट पहन रखी थी. राजे ने नए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट को भी बधाई दी. 


कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में दिखा दिलचस्प नजारा, देखें VIDEO

अलग-अलग पार्टी से संबंध रखने पर मध्यप्रदेश के ग्वालियर के राज परिवार में मतभेद पैदा हो गए थे. राज परिवार की कुलमाता और वसुंधरा राजे की मां विजयराजे सिंधिया भाजपा के संस्थापक नेताओं में से एक थीं. वसुंधरा राजे के बेटा भी भाजपा सांसद हैं. पूर्व मंत्री दिवंगत माधवराव सिंधिया वरिष्ठ कांग्रेस नेता थे. ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का करीबी माना जाता है. हालांकि, सिंधिया मध्य प्रदेश में सीएम की रेस में पिछड़ गए.
 

19g9e9h

राजस्थान : शपथ समारोह में विपक्ष एकजुट, लेकिन अखिलेश और मायावती नदारद; जानिए- क्या हैं इसके मायने

राहुल के साथ गर्मजोशी से मुलाकात
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से बहुत गर्मजोशी से मिले. शपथ ग्रहण में शिरकत करने पहुंची वसुंधरा ने केसरिया रंग की साड़ी पहन रखी थी और उन्होंने मौके पर पहुंचकर नए मुख्यमंत्री को बधाई दी. कांग्रेस अध्यक्ष ने उनके पास जाकर उनसे मुलाकात की. दोनों नेताओं ने गर्मजोशी से हाथ मिलाया. 

अशोक गहलोत तीसरी बार बने राजस्थान के सीएम, शपथ ग्रहण समारोह में दिखी विपक्ष की एकजुटता

गहलोत, पायलट, ज्योतिरादित्य सिंधिया और कांग्रेस के कई अन्य नेता भी भी पूर्व मुख्यमंत्री से बेहद गर्मजोशी के साथ मिले. शपथ ग्रहण के बाद वसुंधरा ने ट्वीट कर कहा, 'मैं अशोक गहलोत को राजस्थान के मुख्यमंत्री और सचिन पायलट को उप मुख्यमंत्री बनने की बधाई देती हूं. उनके लिए मेरी शुभकामनाएं हैं.' हालिया विधानसभा चुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है. वसुंधरा 2003 से 2008 और 2013 से 2018 के दौरान दो बार राजस्थान की मुख्यमंत्री रहीं।

टिप्पणियां

'गठबंधन बस' से राहुल गांधी ने एक बार फिर दिखाई विपक्ष की ताकत, अखिलेश और मायावती रहे दूर

राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में अशोक गहलोत ने ली शपथ



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement