NDTV Khabar

अब एक ऑडियो क्लिप को लेकर छत्तीसगढ़ में मची सियासी खलबली

दरअसल इस वायरल आडियो में कंबल बाबा कांग्रेस के लुंड्रा विधायक चिंतामणि महाराज को बीजेपी में शामिल होने की पेशकश कर रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब एक ऑडियो क्लिप को लेकर छत्तीसगढ़ में मची सियासी खलबली
रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजनीति में हर चुनावों से पहले सीडी, रिकॉर्डिंग का रोल बढ़ जाता है, इस बार भी राज्य के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के शुगर का इलाज करने वाले कंबल बाबा के एक वायरल हुए कथित ऑडियो ने सियासी खलबली मचा दी है. दरअसल इस वायरल आडियो में कंबल बाबा कांग्रेस के लुंड्रा विधायक चिंतामणि महाराज को बीजेपी में शामिल होने की पेशकश कर रहे हैं. इस ऑडियो सीडी में कंबल बाबा कथित तौर पर कहते सुने जा सकते हैं -

कंबल बाबा - ऐसा ना कि आपकी शर्त के अनुसार आपको खर्च नहीं लगेगा, आपके हिसाब से... मैंने बोला इलेक्शन लड़ने की पूरी ज़िम्मेदारी यानी मंत्री बनाने की पूरी शर्त... अब आपकी इच्छा...
चिंतामणि महाराज - मेरे वहां जाते ही सारी फोटो आ जाएगी...
कंबल बाबा - मेरी बात सुनो, आपकी कहीं फोटो आई तो पूरी ज़िम्मेदारी मेरी.


इस कथित आडियो में कंबल वाले बाबा ने कांग्रेस छोड़कर रामदयाल उइके के बीजेपी प्रवेश करने का भी राज खोला है. आरोप है उइके को दस करोड़ रुपये और मंत्री पद दिए जाने के आश्वासन के साथ बीजेपी में प्रवेश कराया गया है.

चिंतामणि महाराज - अभी हमारे कार्यकारी अध्यक्ष को ले गये, ये लोग किस हद तक जा सकते हैं इसकी कल्पना भी नहीं कर सकते हैं.
कंबल बाबा - वो कार्यकारी अध्यक्ष आ गए हैं, लाया नहीं गया है.. मैं आपको बता देता हूं दस करोड़ में सौदा हुआ है उनको मंत्री पद भी फाइनल हो गया है.


हालांकि कंबल बाबा के तमाम समीकरणों को सुनने के बावजूद चिंतामणि महाराज यह कहते सुने जा रहे हैं कि वह कांग्रेस के साथ विश्वासघात नहीं कर सकते.

चिंतामणि महाराज - नहीं, सुनिये ना, हम तो महाराजा साहब को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं, फिर हम मंत्री बनें ना बनें हम विधायक केवल बनें रहें उतना ही बहुत है.
कंबल बाबा -- फिर आपका कैसे करें
चिंतामणि महाराज - नहीं, मन जो बोल रहा है उसके विपरीत जाने से नुकसान होगा.


इस मामले में कंबल वाले बाबा से संपर्क नहीं हुआ, लेकिन कांग्रेस विधायक ने इसकी पुष्टि की. उनका कहना था आप बीजेपी में आ जाओ, हम चुनाव जिताएंगे मंत्री बनाएंगे. मेरे पास फोन आया था मैंने भी उसको सुना लेकिन ना मैंने टेप किया ना वायरल किया. चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को बड़ा मुद्दा मिला तो नेता प्रतिपक्ष, टी.एस. सिंहदेव ने विधायक जी को साथ लेकर प्रेस कांफ्रेस आयोजित की और वायरल वीडियो के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत करके जांच और कार्रवाई की मांग की है. उन्‍होंने कहा, 'इस ऑडियो की तत्काल जांच होनी चाहिये, स्वंय संज्ञान लेकर प्रशासन को केस दर्ज करना चाहिये, निर्वाचन आयोग को भी इसकी जानकारी दी जाएगी. अगर अमित शाह यही करने आए होंगे तो सोचिये इनकी मानसिकता क्या हो सकती है, निसंदेह यही प्लानिंग होगी.'

टिप्पणियां
मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कंबल बाबा और बीजेपी के बीच किसी भी संबंध से ना सिर्फ इंकार किया, बल्कि कहा उनके 65 विधायक जीतकर आने वाले हैं. दुनिया के इतने बाबा घूम रहे हैं, ना बीजेपी से कोई लेना देना ना कोई मतलब, विधायक क्यों तोड़ेंगे, हमारे पास पहले भी थे, इस बार 65 जीतकर आएंगे तोड़ने फोड़ने का कोई मतलब नहीं है. कंबल बाबा उर्फ गणेश यादव पहले छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री के वैद्य गुरु बनकर सुर्खियों में आए, कई लोगों के इलाज का दावा किया, लेकिन अब उनपर दलबदल की राजनीति में डॉक्टरी का आरोप लगा है. देखते हैं 11 दिसंबर राज्य की 90 सीटों पर जनता ऐसे लोगों का कैसा इलाज करती है.

(सोमेश पटेल के इनपुट के साथ)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement