NDTV Khabar

बागी बने सिरदर्द: तो इस वजह से राजस्थान BJP ने 4 मंत्री समेत 11 सीनियर नेताओं को किया सस्पेंड

राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में जबरदस्त टक्कर देखने को मिल रही है. हालांकि, यह भी हकीकत है कि टिकट बंटवारे के बाद दोनों पार्टियां अपने बागी नेताओं से जुझ रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बागी बने सिरदर्द: तो इस वजह से राजस्थान BJP ने 4 मंत्री समेत 11 सीनियर नेताओं को किया सस्पेंड

वसुंधरा राजे (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में जबरदस्त टक्कर देखने को मिल रही है. हालांकि, यह भी हकीकत है कि टिकट बंटवारे के बाद दोनों पार्टियां अपने बागी नेताओं से जुझ रही हैं. मगर चुनाव से ठीक पहले राजस्थान बीजेपी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कैबिनेट में चार मंत्रियों सहित 11 वरिष्ठ नेताओं को निलंबित कर दिया है, जो पार्टी द्वारा चुने गए उम्मीदवारों के पक्ष में राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन वापस लेने से इंकार कर रहे हैं. गुरुवार को पार्टी द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, 11 बागियों को छह साल तक पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से हटा दिया गया है. इनमें से सुरेंद्र गोयल, लक्ष्मीनारायण दवे, राधेशम गंगानगर, हमीसिंह भदान, राजकुमार रिनावा, रामेश्वर भती, कुलदीप धनकड़, दीनदयाल कुमावत, किशनम नाई, धनसिंह रावत और अनिता कटारा हैं. 

मान गए ज्ञानदेव आहूजा, नामांकन वापस लेकर BJP में लौटे, पार्टी में मिला यह ओहदा


बताया जा रहा है कि पार्टी के कई बागियों ने 7 दिसंबर को होने वाले चुनावों के लिए अपना नामांकन दायर किया और कई विधायकों ने टिकट न मिलने के बाद पार्टी से इस्तीफा दे दिया. इस समय राजस्थान में वसुंधरा राजे की अगुआई वाली बीजेपी को भारी एंटी इनकंबेंसी माहौल का सामना करना पड़ रहा है. 

राजस्थान में कांग्रेस जीती तो कौन बनेगा मुख्यमंत्री? सचिन पायलट ने दिया यह जवाब...

बीजेपी के बागी विधायक मानवेंद्र सिंह, जो हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए हैं. बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व विदेश मंत्री जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र को झालरापाटन से टिकट दिया है. पार्टी ने 2014 में जसवंत सिंह को टिकट नहीं दिया था. माना जाता है कि मानवेंद्र और उनके परिवार की मुख्यमंत्री राजे से रिश्ते अच्छे नहीं थे. मानवेंद्र ने अक्टूबर में बाड़मेर में ‘स्वाभिमान' रैली की और भाजपा से औपचारिक रूप से अलग हो गए. इसके बाद वह पिछले महीने कांग्रेस में शामिए हुए.  

सीताराम केसरी को बाथरूम में लॉक कर कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाया गया, देश ने देखा है: पीयूष गोयल

टिप्पणियां

हालांकि, बीजेपी इकलौती पार्टी नहीं है जो बागियों की समस्या से जूझ रही है. बताया जा रहा है कि कांग्रेस के भी 40 से बागी नेता हैं, जिनमें चार तो मंत्री भी हैं, जो राज्य में जीत की संभावनाओं पर कहीं पानी भी फेर सकते हैं. बहरहाल, राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जीत को लेकर आश्वस्त दिख रही हैं. 

VIDEO: राजस्थान के टोंक में सचिन पायलट बनाम यूनुस



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement