NDTV Khabar

अब सिद्धारमैया ने पीएम मोदी को दी चुनौती, कहा- येदियुरप्पा सरकार की उपलब्धियों पर 15 मिनट बोलकर दिखाएं

इस महीने की 13 तारीख को होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव में मुद्दों की जगह चुनौतियों ने ले ली है और घमासान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के बीच सिमट गया है

1.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब सिद्धारमैया ने पीएम मोदी को दी चुनौती, कहा- येदियुरप्पा सरकार की उपलब्धियों पर 15 मिनट बोलकर दिखाएं

फाइल फोटो

खास बातें

  1. 13 मई को होनी है कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग
  2. कर्नाटक में घमासान पीएम मोदी और सीएम सिद्धारमैया के बीच सिमट गया
  3. कर्नाटक में भाजपा और कांग्रेस के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया है
बेंगलुरू :

इस महीने की 13 तारीख को होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव में मुद्दों की जगह चुनौतियों ने ले ली है और घमासान  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के बीच सिमट गया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ‘15 मिनट की चुनौती’ की टिप्पणी के बाद कर्नाटक में भाजपा और कांग्रेस के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया है.

सिद्धारमैया ने PM मोदी से पूछा, क्या जर्नादन रेड्डी आपकी रैलियों में शामिल होंगे? दागे ये 8 सवाल

मोदी ने मंगलवार को एक चुनावी रैली में राहुल पर कटाक्ष करते हुए उन्हें सिद्दारमैया सरकार की उपलब्धियों के बारे में कागज से पढ़े बिना 15 मिनट के लिए ‘किसी भी भाषा में बोलने’ की चुनौती दी थी. मोदी की इस चुनौती पर मुख्यमंत्री ने पलटवार किया है.  


सिद्दारमैया ने ट्विटर पर कहा,‘मैं आपको ( मोदी ) कर्नाटक की पूर्व बी एस येदियुरप्पा सरकार की उपलब्धियों के बारे में कागज से पढ़कर 15 मिनट तक बोलने की चुनौती देता हूं.’ राहुल ने हाल में कहा था कि यदि उन्हें भ्रष्टाचार समेत विभिन्न मुद्दों पर 15 मिनट के लिए उन्हें संसद में बोलने दिया जाता है तो प्रधानमंत्री 15 मिनट के लिए बैठ नहीं पायेगे. राहुल के इस बयान पर मोदी ने यह प्रतिक्रिया दी थी. 

PM मोदी पर सिद्धारमैया का पलटवार, कहा-क्या आप डर की वजह से वाराणसी और वडोदरा से चुनाव लड़े थे?

सिद्दारमैया ने प्रधानमंत्री के उस दावे का भी खंडन किया कि कर्नाटक सरकार कृषि संकट के लिए 'उदासीन' थी और फसल बीमा योजना को प्रभावी ढंग से लागू नहीं कर रही थी. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘सर कर्नाटक सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत लागत का 50 प्रतिशत भुगतान किया. देश में केवल हमारी ही सरकार है जिसने किसानों के खाते में बीमा राशि का सीधे भुगतान करने के लिए आईटी को तैनात किया है. फसल बीमा भी पुरानी संप्रग योजना है.’ 

वादे पूरा नहीं करने के लिए सिद्धारमैया ने की मोदी सरकार की आलोचना

टिप्पणियां

भारतीय जनता पार्टी की कर्नाटक किसान इकाई के कार्यकर्ताओं से ‘नरेन्द्र मोदी एप’ के जरिये संवाद करते हुए मोदी ने बुधवार को कहा,‘कर्नाटक से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से संबंधित शिकायतें मिल रही है. कर्नाटक सरकार उदासीन है. वह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से एक किसान को मिलने वाले फायदे के बारे में परवाह नहीं करती है.’ 

VIDEO: पीएम मोदी ने कहा, 15 मिनट बोलकर दिखाएं राहुल
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement