NDTV Khabar

त्रिपुरा चुनाव रिजल्ट 2018: BJP 'जीरो' से सत्‍ता की ओर, कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला!

त्रिपुरा की 60 सदस्यीय विधानसभा सीटों में से 59 पर शनिवार को हो रही मतगणना में सत्तारूढ़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है. वहीं कांग्रेस खाता भी नहीं खोल सकी. त्रिपुरा इलेक्शन रिजल्ट थोड़ी देर में साफ हो जाएंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
त्रिपुरा चुनाव रिजल्ट 2018: BJP 'जीरो' से सत्‍ता की ओर, कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला!

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव के नतीजों में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला! (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राज्य की 59 सीटों पर 18 फरवरी को मतदान हुआ था
  2. 50,700 सुरक्षाकर्मियों और मतदान कर्मियों ने पोस्टल बैलट के जरिए वोट किया
  3. राज्य के 20 स्थानों में बनाए गए 59 मतगणना केंद्र
नई दिल्ली:

त्रिपुरा की 60 सदस्यीय विधानसभा सीटों में से 59 पर शनिवार को हो रही मतगणना में सत्तारूढ़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है. वहीं कांग्रेस खाता भी नहीं खोल सकी.  आपको बता दें कि पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 10 सीटों पर जीत हासिल की थी. 

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव नतीजे 2018: बीजेपी के शानदार प्रदर्शन के ये हैं 6 कारण

त्रिपुरा में 18 फरवरी को चुनाव से एक सप्ताह पहले चारीलाम सीट से माकपा के उम्मीदवार के निधन के बाद इस सीट को छोड़कर बाकी 59 सीटों पर मतदान हुए थे. 11.30 बजे तक आए परिणाम में 39 सीटों पर बीजेपी गठबंधन आगे चल रही है. वहीं 20 सीटों पर लेफ्ट आगे चल रही है. वहीं कांग्रेस अपना खाता भी नहीं खोला सकी. आपको बता दें कि चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को 10 सीटों पर जीत मिली थी लेकिन चुनाव से पहले 6 विधायक टीएमसी में शामिल हो गए थे. इसके बाद टीएमसी के मुकुल रॉय बीजेपी में शामिल हो गए और त्रिपुरा के सभी 6 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए.

निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने बताया कि मतदान के समय ड्यूटी पर तैनात 50,700 से अधिक सुरक्षाकर्मियों और मतदान कर्मियों ने पोस्टल बैलट के जरिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. राज्य के 20 स्थानों में बनाए गए 59 मतगणना केंद्रों पर तीन स्तरीय सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं.


त्रिपुरा में BJP दो तिहाई बहुमत की ओर, 25 साल बाद लेफ्ट सरकार का अंत

मतदान केंद्रों के आसपास एहतियात के तौर पर सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की गई है. अतिरिक्त निर्वाचन अधिकारी तपस रॉय ने आईएएनएस को बताया, "किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए भारी संख्या में अर्धसैनिक बलों की टुकड़ियां और सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है."

टिप्पणियां

उन्होंने बताया कि प्रत्येक मतगणना स्थल पर मेटल डिटेक्टर और छह सीसीटीवी लगाए गए हैं. साथ ही पूरी मतगणना प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिग भी की जा रही है. निर्वाचन आयोग ने मतगणना प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए 47 सामान्य पर्यवेक्षक और आठ पुलिस पर्यवेक्षकों को नियुक्त किया है.

VIDEO: रणनीति से त्रिपुरा में बीजेपी को मिली बढ़त

राज्य में सत्तारूढ़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), भाकपा, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस और निर्दलीयों सहित कुल 290 उम्मीदवार चुनावी मैदान में आमने-सामने हैं. इनमें कुल 23 महिलाएं भी हैं. राज्य में मतदान से एक सप्ताह पहले माकपा के उम्मीदवार रामेंद्र नारायण देबरमा के निधन के कारण चारीलाम सीट (जनजातियों के लिए आरक्षित) पर मतदान स्थगित कर दिया गया था, जहां 12 मार्च को मतदान होगा.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement