छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी को रमन सिंह के खिलाफ उतारा

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के ख़िलाफ़ कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को मैदान में उतार रही है.

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी को रमन सिंह के खिलाफ उतारा

कांग्रेस ने करुणा शुक्ला को राजनांदगांव से रमन सिंह के खिलाफ उतारा है.

रायपुर:

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के ख़िलाफ़ कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को मैदान में उतार रही है. वो राजनांदगांव से कांग्रेस उम्मीदवार बनाई गई हैं. करुणा शुक्ला पहली बार 1993 में बीजेपी से विधायक चुनी गईं और जांजगीर से सांसद रह चुकी हैं. बीते 4-5 साल से वे कई मौकों पर खुलेआम बीजेपी नेतृत्व, खास तौर से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह की आलोचना करती आईं हैं. बीजेपी में अनदेखी से नाराज करुणा ने साल 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस का हाथ थाम लिया. तब कांग्रेस ने उन्हें बिलासपुर से टिकट दिया लेकिन वे हार गईं. अब कांग्रेस ने उन्हें राजनांदगांव से सूबे के मुख्यमंत्री के खिलाफ उतारा है.

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ चुनावों के लिए BJP ने 77 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की, 14 मौजूदा विधायकों का कटा टिकट

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने बताया कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने प्रथम चरण के लिए छह उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है. सूची के अनुसार राजनांदगांव से करुणा शुक्ला, खैरागढ़ से गिरवर जंघेल, डोंगरगढ़ से भुवनेश्वर सिंह बघेल, डोंगरगांव से दलेश्वर साहू, खुज्जी से चन्नी साहू और मोहला मानपुर से इंदरा शाह मंडावी को उम्मीदवार बनाया गया है.

VIDEO : छत्तीसगढ़ : विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका

पहले चरण में बस्तर क्षेत्र के जिलों और राजनांदगांव जिले के 18 विधानसभा सीटों के लिए 12 नवंबर को मतदान होगा. कांग्रेस में आने के बाद से करूणा शुक्ला ने लगातार मुख्यमंत्री के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है. कांग्रेस प्रवेश के बाद पार्टी ने उन्हें वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव में बिलासपुर से अपना उम्मीदवार बनाया था. वह भाजपा के लखनलाल साहू से चुनाव हार गई थी. इससे पहले वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव में वह भाजपा के टिकट से कोरबा सीट से चुनाव लड़ी थीं, लेकिन कांग्रेस के चरणदास मंहत से चुनाव हार गई थीं.

(इनपुट : भाषा)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com