NDTV Khabar

स्टार प्रचारक योगी, चुनावी भाषणों से विवाद खूब पैदा किए मगर बीजेपी के लिए वोट नहीं बटोर पाए

बीजेपी में बतौर स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने घूम-घूमकर सभाएं कीं, मगर बीजेपी उन राज्यों में नहीं जीत सकी चुनाव.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्टार प्रचारक योगी, चुनावी भाषणों से विवाद खूब पैदा किए मगर बीजेपी के लिए वोट नहीं बटोर पाए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फाइल फोटो.

खास बातें

  1. सीएम योगी भाषण तो खूब दिए, मगर जीता नहीं पाए.
  2. सीएम योगी के भाषणों से बढ़ा था विवाद.
  3. तीन राज्यों में बीजेपी की हार हुई है.
नई दिल्ली:

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की बतौर स्टार प्रचारक डिमांड रही. उन्होंने 20 से 25 दिनों तक यूपी से बाहर रहकर राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश से लेकर तेलंगाना तक में प्रचार किया. इस दौरान उनके चुनानी भाषणों से कई दफा विवाद पैदा हुए. माना जा रहा था कि सीएम योगी चुनाव में बीजेपी के लिए ध्रुवीकरण की कोशिशों में जुटे हैं. इसका वोटों के लिहाज से फायदा हो सकता है, मगर ऐसा नहीं हुआ. नतीजे देखें तो उन सभी राज्यों में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा है, जहां उन्होंने कैंपेनिंग की. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले एक महीने में योगी ने तीन राज्यों में 26 रैलियों में हिस्सा लिया . उन्होंने छत्तीसगढ़ में छह, मध्य प्रदेश में नौ और राजस्थान में 11 चुनावी रैलियों को संबोधित किया.

मध्य प्रदेश में कांग्रेस का सियासी वनवास खत्म, मगर किसका होगा राजतिलक, अब भी बड़ा सवाल


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तेलंगाना में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि यदि भाजपा ने तेलंगाना में सरकार बनाई तो वह लोगों की भावनाओं का  सम्मान करते हुए हैदराबाद का नाम ‘भाग्यनगर' और करीमनगर जिले का नाम ‘करीपुरम' करेगी. योगी ने करीमनगर जिले और निजामाबाद जिले के बोधन नगर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘यदि भाजपा तेलंगाना में सत्ता में आई तो वह आपकी भावनाओं का सम्मान करते हुए करीमनगर का नाम बदलकर ‘करीपुरम' करेगी.उन्होंने कहा कि यदि भाजपा सरकार बनती है तो हैदराबाद का नाम बदलकर ‘भाग्यनगर' किया जाएगा जैसे आपने उत्तर प्रदेश में देखा...हमने फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या और इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया है.

मायावती ने पहले कांग्रेस को फटकारा, फिर समर्थन देने का किया एलान, कहा- भाजपा को सत्ता से दूर रखना है

टिप्पणियां

इस पर भी विवाद पैदा हुआ. इसके अलावा उन्होंने कहा था कि यदि तेलंगाना में बीजेपी की सरकार बनी तो ओवैसी को हैदराबाद छोड़कर भागना पड़ेगा. इससे पहले मध्य प्रदेश के भोपाल में एक रैली को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने एमपी कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ के कथित 'मुस्लिम वोट' वाले बयान पर चुटकी ली थी. कमलनाथ कथित तौर पर कहा था, 'पार्टी को राज्य के 90 मुस्लिम वोट चाहिए.' इस पर निशाना साधते हुए योगी ने कहा था, 'कांग्रेस को केवल मुस्लिम वोटों की जरूरत है. कमलनाथ जी आप अपना अली रखिए, हमारे लिए बजरंग बली काफी है.' इसके अलावा राजस्थान में चुनाव प्रचार के दौरान बजरंग बली को कथित तौर पर दलित बताए जाने को लेकर भी हंगामा मचा. हालांकि बीजेपी का कहना था कि योगी की बात को तोड़मरोड़कर पेश किया गया.

VIDEO: ...तो ओवैसी को तेलंगाना छोड़कर भागना होगा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement