Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Badminton: पीवी सिंधु को हरा साइना नेहवाल फिर बनी राष्ट्रीय चैंपियन, पुरुष वर्ग में सौरभ वर्मा जीते

Badminton: पीवी सिंधु को हरा साइना नेहवाल फिर बनी राष्ट्रीय चैंपियन, पुरुष वर्ग में सौरभ वर्मा जीते

साइना नेहवाल मैच के दौरान

खास बातें

  • साइना का कुल चौथा राष्ट्रीय खिताब रहा
  • सौरभ वर्मा तीसरी बार बने राष्ट्रीय चैंपियन
  • पुरुष युगल में प्रणव जैरी चोपड़ा और चिराग सेट्टी जीते
गुवाहाटी:

मौजूदा चैंपियन साइना नेहवाल (#SainaNehwal) ने शनिवार को ओलिंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु (#PvSindhu) को हराकर 83वीं सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप (#SainaNehwal wins National title) का महिला एकल खिताब जीत लिया. साइना ने लगातार दूसरी बार यह खिताब अपने नाम किया. दूसरी सीड साइना ने फाइनल में सिंधु को  सीधे सेटों में 21-18, 21-15 से मात दी. उन्होंने 44 मिनट में सिंधु को पराजित किया. साइना के सामने सिंधु की ज्यादा नहीं चली. पुरुष वर्ग में सौरभ वर्मा (#SaurabhAgarwal) ने युवा लक्ष्य सेन (#LakshyaSen) को हराकर राष्ट्रीय चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया.

महिला वर्ग के फाइनल की बात करें, तो पहले गेम के आखिरी पलों में मुकाबला कुछ नजदीकी जरूर हुआ, लेकिन साइना बढ़त हासिल करने में कामयाब रहीं. उम्मीद थी कि सिंधु पलटवार करेंगी, लेकिन ऐसा नहीं ही हुआ. और साइना ने दूसरा गेम भी 21-15 के अच्छे अंतर से जीतकर फिर से राष्ट्रीय चैंपियन बनने का गौरव हासिल कर लिया. 

यह भी पढ़ें: कैंसर के खिलाफ जंग जीतने वाले ली चोंग वेई अप्रैल में करेंगे बैडमिंटन कोर्ट में वापसी

वहीं, पुरुष एकल में सौरभ वर्मा ने युवा खिलाड़ी लक्ष्य सेन को 21-18 21-13 से हराकर खिताब जीता. सौरभ ने भी 44 मिनट में यह मुकाबला जीता. पुरुष वर्ग में  शुक्रवार को तीसरी वरीय पी. कश्यप को हराकर बड़ा उलटफेर करने वाले लक्ष्य सेन पर फाइनल में सभी की नजरें लगी हुई थीं, लेकिन 17 साल का यह युवा खिलाड़ी एक और उलटफेर करने में नाकाम रहा. महिला वर्ग की तरह ही यह मुकाबला भी एकदम एकतरफा साबित हुआ. और सौरभ वर्मा ने लक्ष्य सेन की बिल्कुल भी नहीं चलने दी. 

VIDEO: जानिए भारतीय हॉकी टीम की गोलची किन हालात में रह रही हैं. 

पुरुष युगल में प्रणव जैरी चोपड़ा और चिराग सेट्टी की जोड़ी ने अर्जुन एमआर और श्लोक रामचंद्रन की जोड़ी को 33 मिनट में 21-13 22-20 से मात देकर चैम्पियन बनने का गौरव हासिल किया।