वर्ल्ड चैंपियनशिप जीत वापस लौटी पीवी सिंधु, कहा- भारतीय होने पर वास्तव में गर्व है

वर्ल्ड चैंपियनशिप जीत वापस लौटी पीवी सिंधु, कहा- भारतीय होने पर वास्तव में गर्व है

वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतकर पीवी सिंधु सोमवार रात को देश लौट आई हैं.

खास बातें

  • इससे पहले भी दो बार वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच चुकी थीं सिंधु
  • 2017 में ओकुहारा तो 2018 में कैरोलिना मारिन से करना पड़ा था हार का सामना
  • 2019 के फाइनल में जापानी खिलाड़ी निजोमी ओकुहारा को दी मात
नई दिल्ली:

भारतीय बैडमिंटन स्टार खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu)सोमवार रात स्वेदश लौट आईं. नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतराराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचने पर सिंधु का समर्थकों ने जोरदार तरीके से स्वागत किया. दो बार की रजत पदक विजेता सिंधु ने रविवार को वर्ल्ड चैंपियनशिप (World Championships) के फाइनल मुकाबले में जापानी खिलाड़ी नोजोमी ओकुहारा (Nozomi Okuhara) को हराकर पहली बार स्वर्ण पदक जीता. स्वदेश लौटने पर सिंधु ने मीडिया से बात करते हुए अपनी जीत का श्रेय अपने कोचों को दिया. हैदराबाद की रहने वाली इस 24 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा, 'यह उनके लिए एक शानदार पल था और उन्हें भारतीय होने पर वास्तव में गर्व है.' सिंधु ने कहा, 'मैं समर्थन के लिए अपने सभी प्रशंसकों का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं. मैं और कड़ी मेहनत करूंगी और कई और पदक हासिल करूंगी. यह एक बहुत ही शानदार जीत है. इससे पहले मैं टूर्नामेंट में दो बार स्वर्ण पदक जीतने से चूकी, लेकिन आखिरकार मैं इसे जीत गई.'

अभिनव बिंद्रा ने वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु को लेकर दिया बड़ा बयान

वर्ल्ड चैंपियनशिप (World Championships) के फाइनल में भारतीय शटलर पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने जापानी प्रतिद्वंद्वी नोजोमी ओकुहारा (Nozomi Okuhara) को 21-7, 21-7 से हराया और स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनीं. सिंधु का टूर्नामेंट के फाइनल में यह लगातार तीसरा साल था. इससे पहले वह 2017 और 2018 में भी टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचीं थी लेकिन 2017 में उन्हें ओकुहारा और 2018 में स्पेन की कौरोलिना मारिन (Carolina Marin) से हार का सामना करना पड़ा था. सिंधु को 2016 के रियो ओलंपिक के फाइनल मुकाबले में भी कौरोलिना मारिन से हार का सामना करना पड़ा था और वह दूसरे स्थान पर रही थी. 

World Championship: पीवी सिंधु ने विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर रचा इतिहास

वर्ल्ड चैंपियनशिप (World Championships) में यह सिंधु का पांचवां पदक है. इससे पहले वह टूर्नामेंट में दो रजत और दो कांस्य पदक जीत चुकी हैं. इस रिकॉर्ड के साथ ही उन्होंने पूर्व ओलिंपिक चैंपियन चीन की झांग निंग (Zhang Ning) की बराबरी भी कर ली है. निंग ने भी चैंपियनशिप में एक स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य पदकों के साथ पांच पदक जीते हैं. 

वीडियो: वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में मेडल जीतकर लौटीं सिंधु

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com