World Championship: पीवी सिंधु व प्रणीत वर्ल्ड क्वार्टरफाइनल में, श्रीकांत व प्रणॉय की छुट्टी

World Championship: पीवी सिंधु व प्रणीत वर्ल्ड क्वार्टरफाइनल में, श्रीकांत व प्रणॉय की छुट्टी

बी साई प्रणीत की फाइल फोटो

खास बातें

  • बी. साई प्रणीत ने वर्ल्ड नंबर आठ खिलाड़ी को दी मात
  • इंडोनेशिया के एंटोनी सिनीसुका गिटिंग को हराकर अंतिम 8 में जगह बनाई
  • प्रणॉय 56 मिनट में 21-19, 21-12 से हार गए
बासेल (स्विट्जरलैंड):

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बी. साई प्रणीत ने यहां जारी बीडब्ल्यूएफ बैडमिंटन विश्व चैम्पियनशिप-2019 के अपने तीसरे दौर के मुकाबले में इंडोनेशिया के और दुनिया के नंबर आठ खिलाड़ी एंटोनी सिनीसुका गिटिंग को हराकर चैंपियनशिप क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया, लेकिन एच.एस. प्रणॉय तीसरे दौर के मुकाबले में दुनिया के नम्बर-1 खिलाड़ी जापान के केंटो मोमोटा से हारकर चैंपियनशिप से बाहर हो गए. क्वार्टर फाइनल में मोमोटा का सामना 14वीं सीड मलेशिया के ली जी जिया से होगा, जिनके खिलाफ मोमोटा का 2-0 का रिकॉर्ड है. प्रणॉय के अलावा भारत के बड़े स्टार किदांबी श्रीकांत भी बाहर हो गए हैं.

किदाम्बी श्रीकांत को वांचारोएन ने 40 मिनट में 21-14 21-13 से शिकस्त दी. श्रीकांत पहले गेम में लय में नजर नहीं आए और एक समय वह 8-12 से पीछे थे. वांचारोएन ने फिर 16-12 की बढ़त बनाने के बाद 21-14 से पहला गेम जीत लिया. दूसरे गेम में भी श्रीकांत 4-8 से पीछे थे. इसके बाद वह लगातार पीछे होते चले गए और वांचारोएन ने आसानी से 21-13 से गेम और मैच जीतकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया. 

महिला वर्ग में भारतीय स्टार पीवी सिंधु ने भी अंतिम आठ में प्रवेश कर लिया है. सिंधु ने अपने तीसरे दौर के मुकाबले में अमेरिका की बेइवन झांग को हराकर चैम्पियनशिप क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया. दुनिया की पांचवें नम्बर की खिलाड़ी सिंधु ने नौवीं सीड झांग को 21-14, 21-6 से हराया. सिंधु ने 34 मिनट में यह मैच समाप्त किया. ओलिंपिक रजत पदक विजेता सिंधु ने पहले गेम में अच्छी शुरुआत की और 11-7 की बढ़त बना ली. भारतीय खिलाड़ी ने फिर 17-10 की बढ़त कायम करने के बाद 21-14 से पहला गेम जीत लिया. 

प्रणीत की बात करें, तो  16वीं वरीय इस खिलाड़ी ने छठी सीड गिटिंग को 21-19, 21-13 से हरा दिया. प्रणीत ने 42 मिनट में यह मुकाबला जीता. वर्ल्ड नंबर-19 प्रणीत और वर्ल्ड नंबर-8 गिटिंग के बीच पहले गेम में कड़ी टक्कर देखने को मिली. प्रणीत एक समय 11-8 से आगे थे. लेकिन, गिटिंग ने वापसी करते हुए 13-13 से बराबरी हासिल कर ली और फिर 18-15 की बढ़त बना ली. फिर, प्रणीत ने वापसी की और स्कोर को 19-19 से बराबरी पर ला दिया. भारतीय खिलाड़ी ने फिर लगातार दो अंक लेकर 21-19 से पहला गेम जीत लिया.

यह भी पढ़ें: इन बहुत ही 'अहम सवालों' का संजय बांगड़ नहीं दे सके इंटरव्यू में ठोस जवाब

दूसरे गेम में प्रणीत ने धमाकेदार शुरुआत करते हुए 5-1 की बढ़त कायम कर ली, लेकिन, गिटिंग ने फिर वापसी की और 8-6 की बढ़त बना ली. इसके बाद, प्रणीत ने एक बार फिर से 11-11 से बराबरी हासिल कर ली. भारतीय खिलाड़ी ने इसके बाद 16-12 से बढ़त बनाई और उन्होंने एक के बाद एक अंक लेते हुए अपने स्कोर को 18-12 तक पहुंचा दिया. प्रणीत ने यहां से बढ़त कायम रखते हुए 21-13 से गेम और मैच जीतकर क्वार्टर फाइनल में कदम रख दिया. इस जीत के साथ ही प्रणीत ने गिटिंग के खिलाफ 3-2 का रिकॉर्ड कर लिया है. 

यह भी पढ़ें: रोहित शर्मा को लेकर सौरव गांगुली ने दिया यह रुचिकर सुझाव, लेकिन...

वहीं, एक और मुकाबले में  एच.एस. प्रणॉय टॉप सीड मोमोटा के हाथों एक कड़े मुकाबले में प्रणॉय को 21-19, 21-12 से पराजित किया. नंबर वन मोमोटा ने 56 मिनट में यह मुकाबला जीतकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया. प्रणॉय ने पहले गेम में मोमोटा को कड़ी टक्कर दी और तीन बार स्कोर को बराबरी पर ला दिया. भारतीय खिलाड़ी एक समय 4-7 से पीछे थे। लेकिन इसके बाद उन्होंने 12-12, 14-14 और 19-19 की बराबरी हासिल कर ली. अंतिम समय में प्रणॉय अंक बटोरने में विफल रहे और उन्हें पहले गेम में 19-21 से नजदीकी हार का सामना करना पड़ा.

महिला वर्ग के मुकाबले में ओलम्पिक रजत पदक विजेता सिंधु ने पहले गेम में अच्छी शुरुआत की और 11-7 की बढ़त बना ली. भारतीय खिलाड़ी ने फिर 17-10 की बढ़त कायम करने के बाद 21-14 से पहला गेम जीत लिया. दूसरे गेम में भी सिंधु आक्रामक शुरुआत के साथ 11-3 से आगे थी. सिंधु की खेल को देखकर लगने लगा कि झांग भारतीय खिलाड़ी के आगे नतमस्तक नजर आ रही है. सिंधु ने यहां से लगातार अंक लेते हुए 21-6 से गेम और मैच जीतकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया. इस जीत के साथ सिंधु ने वर्ल्ड नंबर-10 झांग के खिलाफ अपना करियर रिकॉर्ड 5-3 का कर लिया है

VIDEO:  धोनी के संन्यास पर युवा क्रिकेटरों के विचार सुन लीजिए. 

दूसरे गेम में प्रणॉय एक समय 5-11 से पीछे थे. इसके बाद वह लगातार पीछे होते चले गए और अंक गंवाते रहे. मोमोटा गेम में 17-10 से आगे हो चुके थे और फिर उन्होंने 21-12 से गेम और मैच जीतकर वर्ल्ड नंबर-30 प्रणॉय के खिलाफ 5-0 का करियर रिकॉर्ड बना लिया.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com