NDTV Khabar

बेंगलुरु : 122 पेड़ों को कटने से बचानेे के लिए लोगों ने किए 22 हज़ार ईमेल...

बीबीएमपी की दो चुनौतियां थी... पहली पेड़ों की कटाई के लिए कोर्ट का आदेश, ताकि बीच में अड़चन न आए और मैसूर राजघराने को ज़मीन में लिए राजी करना, क्योंकि नई सड़क के लिए बैंगलोर पैलेस की बाउंड्री वॉल में भी बदलाव लाना ज़रूरी था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेंगलुरु : 122 पेड़ों को कटने से बचानेे के लिए लोगों ने किए 22 हज़ार ईमेल...
बेंगलुरु: बेंगलुरु शहर के जयमहल इलाके में सड़क को चौड़ी करने के लिए 122 पेड़ों को काटने का फैसला बीबीएमपी ने लिया था, क्योंकि ये पेड़ सड़क के बीचोंबीच आ रहे थे और इनकी मौजूदगी में सड़क को चौड़ा करना नामुमकिन था. वो भी उस सड़क को जो बेंगलुरु के सेंट्रल पश्चिमी और व्हाइट फील्ड को एयरपोर्ट से जोड़ता है. पीक आवर्स के बाद भी मैक्केरी सर्किल के रास्ते यहां पर ट्रैफिक सामान्य तौर पर काफी होता है.

ऐसे में बीबीएमपी की दो चुनौतियां थी... पहली पेड़ों की कटाई के लिए कोर्ट का आदेश, ताकि बीच में अड़चन न आए और मैसूर राजघराने को ज़मीन में लिए राजी करना, क्योंकि नई सड़क के लिए बैंगलोर पैलेस की बाउंड्री वॉल में भी बदलाव लाना ज़रूरी था. बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका को इसमें कोई अड़चन नहीं आई. कोर्ट का आदेश भी मिला और राजघराने का समर्थन भी.

उन पेड़ों की निशानदेही की गई, जिन्हें काटा जाना था. तभी पेड़ों की कटाई के खिलाफ लोग सड़क पर उतर आए. बीबीएमपी के चीफ इंजीनियर बीएस प्रहलाद ने बताया कि लगभग 22 हज़ार ईमेल बीबीएमपी के वन विभाग को मिले, जिनमें विनती की गई थी कि पेड़ों को न काटा जाए, बल्कि उन्हें यहां से हटाकर आसपास में ही दोबारा लगाया जाए. 

टिप्पणियां
लोगों का समर्थन और मांग को देखते हुए बीबीएमपी ने तय किया की इन पेड़ों को पास के ही पैलेस ग्राउंड में यहां से उखाड़कर लगा दिया जाएगा और इस काम के लिए गुजरात की एक कंपनी मौका दिया गया है, जिसने सूरत में इस काम को बख़ूबी अंजाम दिया था. हालांकि कुछ पेड़ ऐसे हैं जो या तो गिरने वाले हैं या फिर खोखले हो चुके हैं. सिर्फ उन्हें ही काटा जाएगा.

इन पेड़ों को काटने की जगह री-लोकेट करने की मुहिम से जुड़े विजय निशांत भी खुश हैं. उनका कहना है कि अब हरियाली भी बची रहेगी और विकास भी होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement