कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री का बयान- अब भगवान ही कोरोनावायरस से बचा सकते हैं

राज्य के सेहत की जिम्मेदारी जिनके सिर पर है, उन्हीं स्वास्थ्य मंत्री ने बुधवार को कहा कि 'अब कोरोनावायरस से हमें भगवान ही बचा सकते हैं'.

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री का बयान- अब भगवान ही कोरोनावायरस से बचा सकते हैं

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु के बयान पर विपक्ष ने बोला है हमला.

बेंगलुरु:

कर्नाटक में कोरोनावायरस (Karnataka Coronavirus Cases) के केस लगातार बढ़ रहे हैं. अभी राज्य में वायरस के संक्रमण के 47,000 से ज्यादा मामले हो चुके हैं, वहीं कर्नाटक देश में सबसे ज्यादा मामलों के साथ गुजरात को पीछे छोड़ चौथे नंबर पर पहुंच चुका है. ऐसे में कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु (B. Sriramulu) के एक बयान की चर्चा हो रही है. राज्य के सेहत की जिम्मेदारी जिनके सिर पर है, उन्हीं स्वास्थ्य मंत्री ने बुधवार को कहा कि 'अब कोरोनावायरस से हमें भगवान ही बचा सकते हैं'. 48 साल के बीजेपी नेता ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, 'दुनियाभर में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हम सबको सावधान रहना चाहिए. चाहे आप सत्ता में हो या विपक्ष में, अमीर हों या गरीब. वायरस किसी में भेद नहीं करता है.'

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, 'मुझे 100 फीसदी विश्वास है कि अगले दो महीनों में केस बढ़ेंगे ही. लोग शिकायत कर सकते हैं कि यह सब सरकार की लापरवाही की वजह से हो रहा है या फिर मंत्रियों को बीच असहयोग इसकी वजह है लेकिन यह सब सच्चाई से बहुत दूर है. अब बस भगवान ही हमें कोरोना से बचा सकते हैं.'

उनके इस बयान पर कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने बीएस येदियुरप्पा सरकार पर हमला करते हुए ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, 'कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि 'अब बस भगवान ही कर्नाटक को बचा सकते हैं'. उनका यह बयान दिखाता है कि येदियुरप्पा सरकार कोविड संकट से लड़ने में नाकाम रही है. हमें ऐसी सरकार की जरूरत क्या है, जो महामारी नहीं संभाल पा रही है? इस सरकार के निकम्मेपन ने जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया है.'

स्वास्थ्य मंत्री ने दी सफाई

इस बयान पर बवाल मचने के बाद बी. श्रीरामुलु ने सफाई देते हुए कहा कि मीडिया के एक वर्ग ने उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया है. श्रीरामुलु ने बुधवार को दिए अपने बयान पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि उनका मतलब यह था कि जब तक कोविड-19 का टीका नहीं बन जाता तब तक भगवान ही हमारी रक्षा कर सकते हैं. उन्होंने बुधवार देर रात को एक वीडियो जारी कर कहा, 'मैंने कहा था कि लोगों के सहयोग के अलावा भगवान को भी हमारी रक्षा करनी चाहिए लेकिन मीडिया के एक वर्ग ने इसका यह अर्थ निकाला कि श्रीरामुलु कोरोना वायरस फैलने को लेकर असहाय हो चुके हैं.' उन्होंने कहा, 'यह कहने के पीछे मेरा मंतव्य था कि जब तक टीका नहीं आ जाता, भगवान ही हमें बचा सकते हैं. इसे गलत तरीके से पेश नहीं किया जाना चाहिए.'

बता दें कि श्रीरामुलु ने बुधवार को कहा था, 'बताइए यह (महामारी को नियंत्रित करने का) किसका काम है. केवल भगवान ही हमें बचा सकते हैं. लोगों के बीच जागरूकता पैदा करना ही एकमात्र उपाय है. ऐसी स्थिति में, कांग्रेस के नेता राजनीति के सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुके हैं. यह किसी के लिए ठीक नहीं है.' श्रीरामुलु, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डी के शिवकुमार और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया के आरोपों का जवाब दे रहे थे जिसमें कहा गया था कि श्रीरामुलु और चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ के सुधाकर के बीच तालमेल न होने से राज्य सरकार कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में विफल रही है.

(भाषा से इनपुट के साथ)

Video: देस की बात रवीश कुमार के साथ: रिकवरी रेट का बहाना नहीं चल सकता

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com