NDTV Khabar

कॉमनवेल्थ गेम्स में भोजपुरी गीतों से रंग जमाएगी ये सिंगर, ग्रामीण टैलेंट को निखारने का उठाया जिम्मा

भोजपुरी सिनेमा की दमदार आवाज और लोक गीत गायिका कल्पना ने ग्रामीण टैलेंट को निखारने का जिम्मा उठाया है. वे कॉमनवेल्थ गेम्स में भी परफॉर्म करेंगी.

143 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कॉमनवेल्थ गेम्स में भोजपुरी गीतों से रंग जमाएगी ये सिंगर, ग्रामीण टैलेंट को निखारने का उठाया जिम्मा

भोजपुरी सिंगर कल्पना

खास बातें

  1. कॉमनवेल्थ गेम्स के समापन समारोह में करेंगी परफॉर्म
  2. ग्रामीण टैलेंट को बढ़ाएंगी आगे
  3. कई भाषाओं में सिंगिंग का है अनुभव
नई दिल्ली: भोजपुरी सिनेमा की दमदार आवाज और लोक गीत गायिका कल्पना ने ग्रामीण टैलेंट को निखारने का जिम्मा उठाया है. कल्पना ने अपने इस फैसले की घोषणा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर की. कल्पना ने ग्रामीण महिलाओं में उनकी छुपी हुई प्रतिभा या अभावों और जानकारी के अभाव में सो चुकी उनकी प्रतिभा को उभारने का फैसला किया है. महिला दिवस पर कल्पना ने कहा कि वे अक्सर ग्रामीण इलाकों में शो के लिए या निजी कार्यक्रमों के लिए जाती रहती हैं और सभी जगह स्थानीय कलाकारों में गजब की प्रतिभा देखने को मिलती है. पैसे और अपनी प्रतिभा को निखारने की जानकारी नही होने की वजह से उनकी कला असमय ही दम तोड़ देती है. उन्होंने बताया कि शक्ति मेनिफिस्ट के माध्यम से कई लोगों को फायदा पहुंचा हैं. कल्पना 4 अप्रैल से शुरू हो रहे कॉमनवेल्थ गेम्स की क्लोजिंग सेरेमनी में अपने गायकी का जलवा दिखाएंगी.

International Women’s Day 2018: ‘महिलाएं प्यार करने के लिए होती हैं, समझने के लिए नहीं', महिला दिवस पर 15 शानदार Quotes

कल्पना ने बताया कि संगीत उनके लिए साधना है जिनका पेट भरा है लेकिन डिजिटल प्लेटफॉर्म के आ जाने से हर कोई इसे कमाई का जरिया बना सकता है. कल्पना ने अपना अनुभव बताते हुए कहा कि हाल ही में वे झारखंड के जमशेदपुर के ओल्ड एज होम गई थीं जहां कई महिलाओं में संगीत की प्रतिभा दिखी. उन्होंने न सिर्फ उन्हें गायन के लिए प्रेरित किया बल्कि स्थानीय रेडियो के माध्यम से उनकी आवाज भी लोगों को सुनाई. महिला दिवस की प्रसांगिकता पर उन्होंने कहा कि बचपन में उन्होंने आसाम में एक लड़की तेजी मौला की कहानी सुनी थी जिसे सौतली मां तड़पा-तड़पा कर मार देती है. अब समय आ गया है कि अत्याचार के विरोध की कहानियां सामने आनी चाहिए.



International Women’s Day: 'औरत ने जनम दिया मर्दों को, मर्दों ने उसे बाजार दिया' के शायर का बर्थडे - जानें 5 बातें

टिप्पणियां
आपको बता दें कि भोजपुरी संगीत को नई ऊंचाई देने में व्यस्त कल्पना इसी साल आस्ट्रेलिया में हो रहे कॉमनवेल्थ गेम्स के समापन समारोह में भोजपुरी गीतों की धुन बिखेरेंगी. भोजपुरी के शेक्सपियर कहे जाने वाले भिखारी ठाकुर के जीवन पर 'द लेगेसी ऑफ भिखारी ठाकुर' का निर्माण कर वाहवाही बटोर चुकी कल्पना ने भोजपुरी संगीत को प्रतिष्ठित पैडी फील्ड महोत्सव और एमटीवी के कोक स्टूडियो तक पहुंचाया है.

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement