NDTV Khabar
होम | भोपाल

भोपाल

  • Coronavirus: मुफ्त आटा और चावल वितरण हुआ तो लोंगों ने सोशल डिस्टेंसिंग की फिक्र छोड़ी
    Coronavirus Lockdown: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के नेहरू नगर में गुरुवार को सरकारी राशन की दुकानों में आटा लेने के लिए लोगों की लंबी कतारें लग गईं. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की कोई फिक्र किसी में नहीं दिखी. भीड़ को काबू में करने के लिए एक-दो बार सिपाहियों ने लाठी भी भांजी.
  • Coronavirus: कोरोना संक्रमित पति पर एम्स नहीं दे रहा ध्यान, पत्नी और बेटे का सैंपल नहीं लिया
    भोपाल में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण से पीड़ित मरीजों के इलाज में भेदभाव किया जा रहा है. एक महिला ने इसकी शिकायत एक वीडियो जारी करके की है. उन्होंने कहा है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में कार्यरत उनके पति कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद से भोपाल के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती हैं लेकिन उनका समुचित उपचार नहीं किया जा रहा है. सिर्फ कोरोना वायरस संक्रमित उच्च अधिकारियों का इलाज किया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा है कि उनका और उनके बेटे का अब तक सैंपल नहीं लिया गया है.
  • शिवराज का आरोप- ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमले की कोशिश, क्या इसके पीछे कांग्रेस सरकार का हाथ?
    भोपाल में शुक्रवार को बीजेपी के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को काले झंडे दिखाए गए और कथित रूप से उनकी कार को रोककर, उन पर पत्थर फेंककर हमला करने की कोशिश की गई. यह घटना भोपाल के वीआईपी रोड पर शुक्रवार की शाम को हुई. इस घटना को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के नेता शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने राज्य की कमलनाथ सरकार की कड़ी आलोचना की है.
  • राजनीति में कोई 'सगा' नहीं! उन्हीं ज्योतिरादित्य के स्वागत में बिछी बीजेपी जिन्होंने कभी कहा था शिवराज..
    राजनीति में कोई किसी का सगा नहीं होता. यह बात ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के कांग्रेस (Congress) छोड़कर बीजेपी (BJP) ज्वाइन करने से ही नहीं बल्कि उनके आज भोपाल में हुए भव्य स्वागत से भी साफ हो गई. भोपाल में जहां ज्योतिरादित्य सिंधिया का जोरदार स्वागत वही बीजेपी कर रही थी जिसके नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के बारे में उन्होंने कहा था कि ‘ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको इन्होंने ठगा नहीं.’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का गुरुवार को भोपाल आने पर ऐतिहासिक स्वागत हुआ. भगवा पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ता सिंधिया के स्वागत में बिछते हुए नजर आए. हवाई अड्डे से प्रदेश बीजेपी कार्यालय तक रैली निकाली गई.
  • ज्योतिरादित्य सिंधिया आज भोपाल जाएंगे, 13 को जमा करेंगे नामांकन पत्र
    भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया कल अपरान्ह 3 बजे विमान द्वारा भोपाल पहुंचेंगे. वे राजा भोज विमानतल से भाजपा कार्यालय पंडित दीनदयाल परिसर पहुंचेंगे.
  • मध्यप्रदेश का सियासी ड्रामा : निर्दलीय एमएलए शेरा भैया भोपाल लौटे, कहा- शेर का अपहरण...!
    मध्यप्रदेश के लापता चार विधायकों में से एक निर्दलीय एमएलए सुरेंद्र सिंह 'शेरा भैया' शनिवार को भोपाल लौट आए. सिंह ने कल शाम को घोषणा की थी कि वे कमलनाथ सरकार को अपना समर्थन जारी रखेंगे. सुरेंद्र सिंह ने उनका अपहरण होने की अटकलों से इनकार किया है. कांग्रेस के तीन अन्य विधायक अब भी लापता बताए जा रहे हैं. शेरा भैया बुरहानपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं. शेरा भैया के अलावा कांग्रेस के तीन विधायक बिसाहू लाल सिंह, रघुराज कनसाना और एचएस डंग को बीजेपी नेता कथित रूप से कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने के उद्देश्य से बेंगलुरु ले गए थे.
  • झील में आईपीएस अफसरों की बोट अचानक पलट गई, सभी को सुरक्षित निकाला; देखें VIDEO
    मध्यप्रदेश का राजधानी भोपाल में आईपीएस सर्विस मीट के दौरान बड़ी झील में नाव पलट गई. नाव में कुछ आईपीएस अफसर और उनके परिजन मौजूद थे. मध्यप्रदेश के डीजीपी विजय कुमार सिंह की पत्नी भी नाव में मौजूद थीं. वाटर स्पोर्ट्स के दौरान यह घटना हुई. नाव पलटते ही आसपास मौजूद दूसरी नावों की मदद से सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया.
  • कमलनाथ सरकार के खिलाफ कांग्रेस के ही यह विधायक ठोक रहे ताल, आंदोलन की धमकी दी
    मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) का गैजेटेड नोटिफिकेशन जारी होने का कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद (Arif Masood) ने विरोध किया है. आरिफ मसूद ने प्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) से गैजेटेड नोटिफिकेशन को खारिज करने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि बड़े ही अफसोस की बात है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने के बाद भी यह लागू हो गया. अब हम इसका पुरजोर तरीके से विरोध करेंगे.
  • भोपाल : CAA और NRC के खिलाफ सीएम कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस का प्रदर्शन
    मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बुधवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के विरोध में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने शांति मार्च निकाला. इसका नेतृत्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किया. रोशनपुरा चौराहे पर जनसभा हुई. पैदल मार्च रंगमहल चौराहे से शुरू होकर मिंटो हॉल में गांधी प्रतिमा के सामने पहुंचकर खत्म हुआ. इसमें हजारों की संख्या में लोग गांधी टोपी पहनकर और हाथों में तिरंगा लेकर शामिल हुए. प्रदर्शनकारियों के हाथों में तिरंगे थे, पोस्टर थे, जिस पर लिखा था 'नागरिकता पर कैसा सवाल, हम सब हैं इस मिट्टी के लाल' और 'मुद्दों से भटकाना बंद करो, आपस में लड़वाना बंद करो.’
  • कमलनाथ सरकार की वादाखिलाफी से नाराज 'अतिथि विद्वान' धरने पर बैठे, देखें - VIDEO
    मध्यप्रदेश के सरकारी कॉलेजों में 15-20 सालों से पढ़ा रहे 'अतिथि विद्वान' नियमितीकरण की मांग पर कमलनाथ सरकार की वादाखिलाफी से नाराज होकर भोपाल में धरने पर बैठे हैं. इससे पहले वे मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र छिंदवाड़ा भी पहुंचे थे. पैदल रास्ता तय करते अब वे राजधानी में हैं. वे सरकार को याद दिला रहे हैं कि कांग्रेस ने अपने वचन-पत्र में अतिथि विद्वानों की नौकरी को लेकर वादा किया था.
  • कांग्रेस एमएलए ने दी थी जिंदा जलाने की धमकी, प्रज्ञा ठाकुर FIR दर्ज न होने पर धरने पर बैठीं
    भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर शनिवार को अचानक भोपाल के कमला नगर थाने में पहुंचीं और उन्होंने कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की. उनके साथ बीजेपी के कार्यकर्ता भी मौजूद थे. गोवर्धन दांगी ने प्रज्ञा ठाकुर को जिंदा जलाने की धमकी दी थी. पुलिस ने प्रज्ञा ठाकुर की शिकायत दर्ज नहीं की और उसके बाद वे अपने समर्थकों के साथ थाने के बाहर धरने पर बैठ गईं.
  • भोपाल गैस त्रासदी : पीढ़ियों को निगल रहा जहर, सरकारें यूनियन कार्बाइड के हितों की रक्षक
    सन 1984 में गैस रिसी और एक शहर तबाह हो गया...तीन दशक से ज्यादा वक्त बीत गया.. लेकिन लाखों लोगों के लिए वक्त 84 में ही ठहर गया. हजारों लोगों को मौत के मुंह में धकेलने वाली भोपाल गैस त्रासदी दुनिया की सबसे बड़ी औद्योगिक दुर्घटनाओं में से एक है, लेकिन अब इस पर कोई बहस नहीं होती. आरोप लगते रहे हैं कि केन्द्र और राज्य सरकारें आज भी पीड़ितों के बजाए यूनियन कार्बाइड और उसके वर्तमान मालिक डाव केमिकल के हितों की रक्षा कर रही हैं. इन सबके बीच इन पीड़ितों की दमदार आवाज़ अब्दुल जब्बार कुछ दिनों पहले गुजर गए. इस बीच गैस पीड़ितों के लिए काम कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं ने एक और बड़ा आरोप लगाया है कि शोध के ऐसे नतीजे को दबा दिया, जिससे कंपनियों से पीड़ितों को अतिरिक्त मुआवजा देने के लिए दायर सुधार याचिका को मजबूती मिल सकती थी.
  • भोपाल में शहीद चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति की जगह अर्जुन सिंह की प्रतिमा लगाने पर विवाद
    मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की प्रतिमा को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. दरअसल जिस तिराहे पर अर्जुन सिंह की मूर्ति लगाई गई है वहां पर पहले शहीद चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति थी, लेकिन ट्रैफिक व्यवस्था का हवाला देकर तीन साल पहले चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति को वहां से हटा दिया गया था. इस मामले में पूर्व मंत्री और नरेला से बीजेपी विधायक विश्वास सारंग ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर कहा कि हम भोपाल में टीटी नगर चौराहे पर स्वर्गीय चंद्र शेखर आजाद की प्रतिमा के स्थान पर स्वर्गीय अर्जुन सिंह की प्रतिमा लगाने का घोर विरोध करते हैं और आपत्ति दर्ज कराते हैं.
  • कमलनाथ के 'गढ़' में ऑपरेशन के बाद गई 4 मरीजों की आंखों की रोशनी, जांच के आदेश
    नेत्र विभाग के प्रभारी डॉ. सी. एम. गेदाम ने मीडिया को बताया, 'इन सभी मरीजों की जांच की गई है. रेटीना में सफेदी की वजह से आंखों में दिखाई नहीं दे रहा है. सफेदी छंटने के बाद सभी को सामान्य दिखाई देने लगेगा. मरीज को सीनियर डॉक्टर से जांच के लिए रेफर किया गया है.' 
  • कांग्रेस ने पोस्टर पर भोपाल की बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर को 'हिंसा की पुजारन' लिखा!
    महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में कांग्रेस नेताओं द्वारा लगवाया गया एक पोस्टर बुधवार को चर्चा का विषय बन गया. राज्य में सत्तासीन कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने पोस्टर में भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर का फोटो इस्तेमाल किया और उसके नीचे 'हिंसा की पुजारन' लिखा. पोस्टर में महात्मा गांधी की भी तस्वीर है जिसके नीचे 'अहिंसा के पुजारी' लिखा गया है. बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर कांग्रेस नेताओं द्वारा इस तरह निशाना बनाने का यह पहला मामला है.
  • नौ करोड़ 85 लाख का फर्जी डिमांड ड्राफ्ट लेकर पहुंचे बैंक, तीन लोग धरे गए
    दिल्ली पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है जो 9 करोड़ 85 लाख रुपये का फ़र्ज़ी डिमांड ड्राफ्ट लेकर बाराखंभा रोड स्थित पंजाब नेशनल बैंक की इंटरनेशनल ब्रांच पहुंचे थे. पकड़े गए आरोपियों के नाम यश सक्सेना, देवेंद्र सिंह मालवीय और राजीव उपाध्याय हैं. सभी भोपाल के रहने वाले हैं.
  • कुंभकर्ण, घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ बीजेपी ने पूरे मध्यप्रदेश में किया विरोध प्रदर्शन, कांग्रेस ने दिया जवाब
    मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के खिलाफ बीजेपी ने बुधवार को प्रदेश भर में घंटानाद आंदोलन किया. बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं के नेतृत्व में नेता और कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालयों पर कलेक्ट्रेट के बाहर घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ पहुंचकर प्रदर्शन किया. भोपाल में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, विदिशा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,जबलपुर में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, सागर में प्रभात झा तो इंदौर में सांसद नंदकुमार सिंह चौहान समेत तमाम दिग्गज नेता सड़क पर उतरे. सड़क पर ढोल, मंजीरे और तुरही बजाई. वहीं कांग्रेस ने इसका जवाब ढोल बजाओ आंदोलन से दिया, हर जिला मुख्यालाय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि बीजेपी के 15 साल के राज में क्या हालात थे.
  • सड़क पर मिला हादसे में घायल युवक तो पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान जुट पड़े मदद में, देखें - VIDEO
    मध्यप्रदेश के बीजेपी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को हादसे में घायल हुए एक युवक को अस्पताल पहुंचाया. वे भोपाल से अपने गांव जैत जा रहे थे. रास्ते में उन्हें सड़क दुर्घटना में घायल एक व्यक्ति सड़क के किनारे पड़ा मिला. उन्होंने उसे उनके काफिले में शामिल एम्बुलेंस से अस्पताल पहुंचा दिया.
  • सड़क बनाने का विरोध करना महिला को पड़ गया महंगा, पहले सरपंच के साथ हुई मारपीट, फिर पुलिस ने भी...
    मध्यप्रदेश के दमोह की इमलिया चौकी के अंतर्गत आने वाले अर्थखेड़ा गांव में एक महिला को सड़क बनाने का विरोध करना महंगा पड़ गया.
  • लोकसभा चुनाव 2019 : भोपाल में दिग्विजय सिंह के समर्थक कम्प्यूटर बाबा के खिलाफ मामला दर्ज
    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Polls 2019) में भोपाल सीट पर कांग्रेस (Congress) के उम्मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) की जीत की कामना से किए गए हठयोग और हवन-पूजन का खर्च उनके चुनावी व्यय में शामिल शामिल किया जाएगा. हठयोग और अनुष्ठान दिग्विजय के समर्थक कम्प्यूटर बाबा (Computer Baba) ने किया था. बाबा और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ चुनाव आयोग (EC) ने आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है.
12345»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com