NDTV Khabar

भोपाल : राष्ट्रगान पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से संतुष्ट हैं याचिकाकर्ता श्याम नारायण चौकसे

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भोपाल : राष्ट्रगान पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से संतुष्ट हैं याचिकाकर्ता श्याम नारायण चौकसे

श्याम नारायण चौकसे.

भोपाल: देशभर के सिनेमाघरों में फिल्म दिखाने से पहले राष्ट्रगान जरूर बजाने और इस दौरान लोगों को सम्मान स्वरूप खड़ा होने के शीर्ष अदालत द्वारा कल दिए गए निर्णय पर भोपाल के याचिकाकर्ता एवं इंजीनियर से सामाजिक कार्यकर्ता बने श्याम नारायण चौकसे ने संतोष व्यक्त किया है. राष्ट्रगान के सम्मान के मुद्दे पर चौकसे ने उच्चतम न्यायालय में सितम्बर 2016 में याचिका दायर की थी.

केंद्रीय भंडारण निगम के सेवानिवृत्त मुख्य अभियंता 76 वर्षीय चौकसे ने आज यहां ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘राष्ट्रगान पर उच्चतम न्यायालय के कल के अंतरिम निर्णय से मैं बहुत संतुष्ट हूं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वर्ष 2001 में ‘कभी खुशी-कभी गम’ फिल्म देखने के दौरान फिल्म में राष्ट्रगान बजने पर मैं और कुछ लोग सिनेमाघर में अपने स्थान से खड़े हो गए, जबकि फिल्म देख रहे अधिकांश दर्शक खड़े नहीं हुए, बल्कि ऐसा करने पर हमारी हूटिंग की.’’ चौकसे ने इसके बाद इस मुद्दे पर मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में वर्ष 2002 में याचिका दायर की. इस पर उच्च न्यायालय ने फिल्म निर्माता करण जौहर को वर्ष 2003 में इस दृश्य को फिल्म से हटाने का आदेश दिया. हालांकि शीर्ष अदालत ने बाद में इस आदेश पर फिल्म निर्माता को स्थगन दे दिया, लेकिन इससे चौकसे थमे नहीं और राष्ट्रगान के अपमान के और साक्ष्य एकत्रित कर फिर से इस मुद्दे पर याचिका दायर की.

चौकसे ने कहा, ‘‘तीन माह पहले सितंबर 2016 में राष्ट्रगान के अनादर के मुद्दे पर मैंने उच्चतम न्यायालय में फिर से याचिका दायर की और कल जब यह अंतरिम निर्णय आया तो इससे मैं बहुत संतुष्ट हूं.’’ इन सब मामलों को अदालत में उठाने के लिए राशि की व्यवस्था करने के सवाल पर भोपाल के शाहपुरा इलाके के निवासी चौकसे ने कहा, ‘‘मेरे बच्चे उच्च पदों पर हैं. इनमें से एक अमेरिका में है और वे सभी मेरी लड़ाई में मुझे हर संभव सहायता करते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले मैं अपने मामलों की अदालत में स्वयं ही पैरवी करता था, लेकिन अब उम्र अधिक होने के कारण मैंने दिल्ली के एक युवा वकील अभिनव श्रीवास्तव को मामलों की पैरवी के लिए नियुक्त किया है.’’

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement