NDTV Khabar

बिहार को गड्ढे से बाहर निकालने के लिए दो-दो इंजनों की जरूरत : पीएम मोदी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार को गड्ढे से बाहर निकालने के लिए दो-दो इंजनों की जरूरत : पीएम मोदी
मधुबनी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि बिहार एक ऐसे गड्ढे में गिर गया है जहां से बाहर निकालने के लिए दो-दो इंजनों की जरूरत पड़ेगी। उन्होंने कहा कि उन्हें 'जंतर-मंतर' पर नहीं बल्कि लोकतंत्र पर भरोसा है। मोदी रविवार को पांचवें चरण के मतदान से पूर्व मधुबनी में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।

इस दौरान पीएम मोदी ने आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर खूब निशाना साधा। उन्होंने रैली में पहुंचे लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार के विकास के लिए अब दिल्ली और बिहार के रूप में दो इंजनों की जरूरत है।

मोदी ने बिहार में इस बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार बनने का दावा किया। उन्होंने स्थानीय महिलाओं का एक पत्र दिखाते हुए कहा कि इस पत्र पर अंगूठा लगा हुआ है, जिसे देखकर लगता है कि वह शिक्षित नहीं हैं और इसके लिए महागठबंधन जिम्मेदार है।

मोदी ने पत्र का हवाला देते हुए कहा, 'बिहार में गरीब की सुनने वाला कोई नहीं है। आठ तारीख को जब एनडीए की सरकार बनेगी, तब यहां के मुलाजिम लोगों के पास खुद पहुंचेंगे और आपकी समस्या सुनेंगे। यहां कांग्रेस, जनता दल (युनाइटेड) और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने इतने दिन राज किया, लेकिन यहां के लोगों को शिक्षा नहीं दे सके।'

टिप्पणियां
मोदी ने एक बार फिर नीतीश के तांत्रिक से मिलने पर चुटकी लेते हुए कहा, 'पहले तो केवल जंगलराज था, लेकिन अब 'जंतर-मंतर' के रूप में जुड़वा भाई मिल गया है। इन दोनों का इस चुनाव में सफाया तय है। वे लोकतंत्र का मजाक उड़ा रहे हैं।'

एनडीए के छह सूत्री कार्यक्रम की जानकारी देते हुए मोदी ने कहा कि अगर यहां के लोगों को पढ़ाई और कमाई उपलब्ध कराई जाए, तो यहां से लोगों का पलायन रुकेगा। उन्होंने कहा कि दवाई से बुजुर्गों का कल्याण होगा। राज्य में बिजली, पानी और सड़क की व्यवस्था की जाएगी।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement