NDTV Khabar

बिहार में चौथे चरण के चुनाव के लिए धुआंधार प्रचार समाप्त

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में चौथे चरण के चुनाव के लिए धुआंधार प्रचार समाप्त

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पटना:

बिहार विधानसभा की 57 सीटों पर चौथे चरण के तहत एक नवंबर को होने वाले मतदान के लिए चुनाव प्रचार शुक्रवार को समाप्त हो गया। इस दौरान एनडीए तथा महागठबंधन के बीच शब्दयुद्ध और तेज हो गया तथा ‘पाकिस्तान में पटाखे चलने’ संबंधी एनडीए की टिप्पणी पर प्रतिद्वंद्वियों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

दिल्ली में तीसरे भारत-अफ्रीका फोरम सम्मेलन के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस दौरान ज्यादातर अनुपस्थित रहे और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह तथा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उनकी अनुपस्थिति की भरपाई के लिए सक्रिय रूप से चुनाव प्रचार किया।

शाह ने पिछले तीन दिनों में औसतन छह रैलियों को संबोधित किया। उन्होंने गुरुवार को पूर्वी चंपारण में रक्सौल में एक सभा में कहा कि अगर बिहार में भाजपा हारती है तो पाकिस्तान में दिवाली मनायी जाएगी और वहां पटाखे फूटेंगे। उनकी इस टिप्पणी से पहले से ही उबल रहे राजनीतिक माहौल में नया उफान आ गया। उनकी टिप्पणी पर प्रतिद्वंद्वी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा कि यह ‘चुनाव को सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास’ है।

महागठबंधन के शिष्टमंडल ने चौथे और पांचवें चरण के भाजपा द्वारा कथित रूप से चुनाव को ‘सांप्रदायिक रंग देने के प्रयास’ के खिलाफ चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया। इस चरण में कई क्षेत्रों में मुस्लिम मतदाताओं की खासी संख्या है। राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने अपने भाजपा समकक्ष के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि यह बिहार के नागरिकों का खासकर पिछड़े, अति पिछड़े, दलित और अल्पसंख्यकों का अपमान है।


टिप्पणियां

प्रधानमंत्री ने शाम पांच बजे चुनाव प्रचार समाप्त होने के पहले गोपालगंज और मुजफ्फरपुर में दो रैलियों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने पहले की ही तरह इस बार भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और लालू प्रसाद पर निशाना साधा और कहा कि इन लोगों की योजना पिछड़ा वर्ग, एससी और एसटी के आरक्षण से पांच प्रतिशत हिस्सा काटकर एक खास समुदाय को देने की है।

नीतीश और लालू द्वारा एनडीए नेताओं पर लगातार निशाना साधे जाने के अलावा कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी चौथे चरण में एक दिन प्रचार किया और प्रधानमंत्री पर निशाना साधा। इस चरण में दोनों ओर से नेताओं ने एक दूसरे पर हमला बोलने के लिए हिंदी फिल्मों से भी मदद ली। नीतीश कुमार द्वारा आमिर खान की फिल्म ‘थ्री इडियट्स’ के एक गाने की तर्ज पर पैरोडी सुनाए जाने के बाद मोदी ने भी पलटवार किया और ‘थ्री इडीयट्स’ का ही सहारा लेते हुए कहा कि भाजपा विरोधी समूह बनाने के लिए तीन पार्टियों जदयू, राजद और कांग्रेस ने हाथ मिला लिया है। राहुल गांधी और महागठबंधन के नेताओं ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधा और उनकी तुलना उसी फिल्म के एक चरित्र ‘वायरस’ से की।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement