NDTV Khabar

लालू प्रसाद यादव ने उठाया सवाल, संघ से किनारा क्यों नहीं करते पीएम मोदी?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू प्रसाद यादव ने उठाया सवाल, संघ से किनारा क्यों नहीं करते पीएम मोदी?

लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

बिहार में चुनावी माहौल के बीच बयानबाजी का दौर जारी है। एनडीटीवी के कार्यक्रम बैटलग्राउंड में डॉ. प्रणॉय रॉय से बात करते हुए आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव ने एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि वह कम्यूनल कार्ड खेल रहे हैं। पीएम संघ की किताब को नकारते क्यों नहीं। वह संघ से किनारा क्यों नहीं करते। उन्होंने इस आरोप को ग़लत बताया कि आरक्षण का मुद्दा महागठबंधन ने उठाया।

यहां देखें बातचीत का वीडियो : पीएम मोदी ने शुरू किए निजी हमले, बोले लालू

पीएम को संविधान के बारे में पता होना चाहिए
लालू ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री को संविधान के बारे में पता होना चाहिए कि धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जा सकता। फिर मोदी कैसे ये आरोप लगा रहे हैं कि आरजेडी और जेडीयू पर पिछड़ों का हिस्सा लेकर मुसलमानों को आरक्षण देंगे।

स्तरहीन बयानबाजी पीएम ने शुरू की
चुनावों में स्तरहीन बयानबाजी के बारे में लालू ने कहा कि इसकी शुरुआत पीएम मोदी ने उन्हें 'शैतान' कहकर दी थी। पीएम ने मेरा, नीतीश और जनता का अपमान किया। अगर आपने मुझे 'शैतान' बोला तो आप पर गुजरात का ब्रह्मपिशाच चढ़ा हुआ है। बिहार के लोगों को यह उतारना आता है।


पीएम मोदी हर फ्रंट पर हुए फेल
लालू ने सवाल उठाया कि पीएम मोदी ने लोकसभा चुनावों में महंगाई कम करने, कालाधन वापस लाने और पाकिस्तान को सीधा करने,  चीन को दबाने, रोजगार देने जैसे कई वादे किए थे, लेकिन आप हर फ्रंट पर फेल हो गए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बननी तय है, कोई शक नहीं। बिहार चुनाव के नतीजों के बाद पीएम मोदी को मालूम है कि उनका क्या हश्र होना है।

टिप्पणियां

बिहार के साथ सौतेले बेटे जैसा व्यवहार
जब लालू से पूछा गया कि आपके काल में कुछ नहीं हुआ तो लालू ने कहा कि मेरे और राबड़ी के काल में बिहार के साथ  सौतेले बेटे जैसा व्यवहार हुआ। बिहार में प्राकृतिक संसाधनों की भरमार है, लेकिन उसके मालिक दिल्ली में हैं। बिहार को उस समय कुछ नहीं मिला।

जंगलराज के सवाल पर लालू बोले कि बिहार में पिछड़ों का राज आने से डरने वाले लोग इस तरह की बातें कर रहे हैं कि जंगलराज आ रहा है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement