NDTV Khabar

शत्रुघ्‍न ने की नीतीश से मुलाकात, बोले- मेरे लिए सबसे सम्मानीय नेता हैं वह

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शत्रुघ्‍न ने की नीतीश से मुलाकात, बोले- मेरे लिए सबसे सम्मानीय नेता हैं वह

नीतीश कुमार से मुलाकात के दौरान शत्रुघ्‍न सिन्‍हा...

पटना:

बिहार चुनाव में बीजेपी की करारी हार के बाद पार्टी में मचे अंदरुनी घमासान के बीच बीजेपी के एक और नाराज़ नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने आज फिर नीतीश कुमार से मुलाकात की और उन्हें महागठबंधन की जीत पर बधाई दी। इस मुलाकात के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार को कहा कि दिवंगत कम्युनिस्ट नेता ज्योति बसु के बाद नीतीश कुमार उनके लिए सबसे सम्मानीय और आदरणीय नेता हैं।

नीतीश के आवास से बाहर निकले सिन्हा ने कहा, 'पटना साहिब के सांसद होने के कारण मुख्यमंत्री की जीत पर बधाई देने आया था।' उन्होंने कहा, 'पारिवारिक रिश्ते को राजनीति के तराजू पर नहीं तौलना चाहिए। नीतीश से दोस्ताना और पारिवारिक और व्यक्तिगत संबंध रहे हैं।'

बीजेपी के कुछ नेताओं द्वारा हार के लिए जिम्मेदार माने जाने के प्रश्न पर सिन्हा ने कहा, "मैंने तो अब तक ऐसा कुछ नहीं किया हूं। शुरुआत से ही मैं पार्टी के लिए वफादार रहा हूं। बीजेपी का दुश्मन नहीं हूं।' इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि 'हमारे लोगों को इस हार पर सोचना होगा। इस हार में मैं शामिल नहीं हूं। जिम्‍मेवारी तय होनी चाहिए।'


इस पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नीतीश की जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह सहित भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं ने बधाई दी है। इसे 'गेम स्प्रीट' की तरह देखना चाहिए। उन्होंने नीतीश की तारीफ करते हुए कहा कि इस चुनाव में नीतीश को जनता का भरपूर प्यार मिला है। नीतीश बिहार में विधि-व्यवस्था, कुशल नेतृत्व, सुशासन के रूप में सफल मुख्यमंत्री रहे हैं।

बीजेपी महासचिव मुरलीधर राव ने पहले ही उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन इन सबसे बेअसर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वो नीतीश से मिलने आए हैं, ये बिहार की जीत है और बीजेपी के लिए वो ज़िम्मेदार नहीं हैं।

टिप्पणियां

दरअसल,  पार्टी से नाराज चल रहे सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने महागठबंधन की जीत को 'लोकतंत्र की जीत' करार दिया था और पार्टी के शीर्ष नेताओं पर यह कहते हुए कटाक्ष किया कि 'बिहारी के मुकाबले बाहरी' के मुद्दे का हमेशा के लिए समाधान हो गया है।

शत्रुघ्न ने कल श्रृंखलाबद्ध ट्वीट्स में कहा, 'लालू जी और नीतीश जी को बिहार चुनावों में जीत के लिए बधाई। हम जनता के जनादेश के आगे सिर झुकाते हैं। यह लोकतंत्र और बिहार की जनता की जीत है। मैं उन्हें सलाम करता हूं। ऐसा लगता है कि बिहारी बनाम बाहरी (और बिहारी बाबू की अनुपस्थिति) के मुद्दे का हमेशा के लिए समाधान हो गया है।' (एजेंसी इनपुट के साथ)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement