NDTV Khabar

बाढ़ का कहर : बिहार में अब तक 153 की मौत, उत्तर प्रदेश में मदद के लिए बुलाई गई सेना

नेपाल से लगते पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना को बुलाया गया है. असम और बंगाल में भारी बारिश नहीं होने से हालात में थोड़ा सुधार हुआ है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाढ़ का कहर : बिहार में अब तक 153 की मौत, उत्तर प्रदेश में मदद के लिए बुलाई गई सेना

फाइल फोटो

खास बातें

  1. बिहार में हालात बदतर
  2. 1 करोड़ लोगों को बचाने की चुनौती
  3. उत्तर प्रदेश में बुलाई गई सेना
नई दिल्ली: बिहार में बाढ़ की वजह से मरने वालों की संख्या आज 153 पहुंचने के साथ ही बाढ़ प्रभावित 17 जिलों में फंसे हुए लोगों की संख्या एक करोड़ से पार हो चुकी है. नेपाल से लगते पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना को बुलाया गया है. असम और बंगाल में भारी बारिश नहीं होने से हालात में थोड़ा सुधार हुआ है. आपदा प्रबंधन विभाग के विशेष सचिव अनिरूद्ध कुमार ने बताया कि बिहार के अररिया जिले में मरनेवालों की संख्या 30 पार हो चुकी है. पश्चिम चंपारण में 23, सीतामढ़ी में 13, मधुबनी में आठ, कटिहार में सात, किशनगंज, पूर्वी चंपारण, सुपौल जिलों में 11-11 , पूर्णिया और मधेपुरा जिले में नौ-नौ लोगों की मौत हुई है. दरभंगा, गोपालगंज और सहरसा जिलों में चार-चार, खगड़िया और शिवहर में तीन-तीन, सारण में दो और मुजफ्फरपुर में एक व्यक्ति की मौत हो गई. उन्होंने बताया कि बिहार के 17 जिलों और 1,688 पंचायत में करीब 1.08 करोड़ लोग बाढ़ से प्रभावित हैं,

यह भी पढ़ें : एनडीआरएफ की नौका में हुआ एक और बच्चे का जन्म

मौसम कार्यालय ने बताया कि पटना, गया, भागलपुर और पूर्णिया में गरज के साथ  बारिश होने की आशंका है. एक अधिकारिक बयान में बताया गया है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ की स्थिति की समीक्षा करके अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए हैं. उन्होंने पूर्वी चंपारण के क्षेत्रों में हवाई मार्ग से खाद्य पदार्थों के पैकेटों के वितरण को तेज करने को कहा है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 1,152 सदस्यों वाली 28 टीमें 118 नाव की मदद से प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य कर रही हैं.

टिप्पणियां
Video : शरद यादव ने बुलाया बागियों का सम्मेलन
आपदा प्रबंधन विभाग ने एक विज्ञप्ति में बताया कि 2,228 कर्मियों के साथ सेना की सात टीम 280 नाव की मदद से राहत और बचाव कार्य में मदद कर रही है. आपदा प्रबंधन विभाग के विशेष सचिव ने कहा कि 1,765 समुदायिक रसोई राज्य में बाढ़ प्रभावित कई क्षेत्रों में 3.44 लाख लोगों को खाना खिला रही है.

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement