NDTV Khabar

महाबोधि मंदिर में विस्फोट का मामला, पकड़ा गया आतंकी संगठन जेएमबी का आतंकवादी

पुलिस ने बताया कि आलम जिले में कामत गांव का रहने वाला है और कुछ वक्त से आतंकवादी संगठन के साथ था. तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा की यात्रा के दौरान 19 जनवरी को बिहार के बोध गया शहर से उच्च तीव्रता वाले दो बम बरामद हुए थे. उसी दिन विस्फोट जैसी आवाज भी सुनाई दी थी, लेकिन पुलिस यह साबित नहीं कर पाई कि क्या यह बम विस्फोट था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाबोधि मंदिर में विस्फोट का मामला, पकड़ा गया आतंकी संगठन जेएमबी का आतंकवादी

महाबोधि मंदिर (फाइल फोटो )

पटना: कोलकाता पुलिस ने बोध गया बम बरामदगी मामले से जुड़े होने के आरोप में आतंकवादी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के एक संदिग्ध सदस्य को गिरफ्तार किया है. पुलिस के एक आला अधिकारी ने आज बताया कि व्यक्ति की उम्र 20-25 साल है और उसे कल पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के धुलियां से पकड़ा था. उसकी शिनाख्त नूर आलम के रूप में हुई है.

बिहार के बोधगया में मिले बमों को किया गया डिफ्यूज

टिप्पणियां
पुलिस ने बताया कि आलम जिले में कामत गांव का रहने वाला है और कुछ वक्त से आतंकवादी संगठन के साथ था. तिब्बती आध्यात्मिक नेता दलाई लामा की यात्रा के दौरान 19 जनवरी को गया के महाबोधि मंदिर परिसर से उच्च तीव्रता वाले दो बम बरामद हुए थे. उसी दिन विस्फोट जैसी आवाज भी सुनाई दी थी, लेकिन पुलिस यह साबित नहीं कर पाई कि क्या यह बम विस्फोट था.

वीडियो : बोधगया में 2013 में भी हुआ था ब्लास्ट

अधिकारी ने बताया कि शुरूआती जांच में पता चला था कि आलम नवम्बर में आतंकी संगठन के चार अन्य सदस्यों के साथ हैदराबाद में जेएमबी के कुछ वरिष्ठ सदस्यों से मिलने के लिए गया था. जनवरी में, कोलकाता पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने बोध गया बम बरामदगी मामले में चार अन्य को गिरफ्तार किया था. पुलिस अधिकारी के मुताबिक, आरोपी कपड़ों के कारोबार से जुड़ा था और हाल में ही इस्लामी किताबें बेचने लगा था. अधिकारी ने बताया कि हम आतंकी संगठन में उसकी भूमिका की जांच कर रहे हैं. हम उससे पूछताछ कर रहे हैं.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement