Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

बिहार में बाढ़ के बाद अब डेंगू बनी बड़ी समस्या, 1400 से ज्यादा मामले आए सामने

राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार प्रभावित जिलों में सघन अभियान चलाया जा रहा है ताकि डेंगू के मरीजों को जल्द से जल्द इलाज दिया जा सके.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में बाढ़ के बाद अब डेंगू बनी बड़ी समस्या, 1400 से ज्यादा मामले आए सामने

बिहार में बाढ़ के बाद बिगड़े हालात

नई दिल्ली:

बिहार के कई जिलों में आफत की बारिश और बाढ़ के बाद डेंगू बड़ी समस्या बनकर सामने आई है. अभी तक राज्यभर में डेंगू के कुल 1400 से ज्यादा मरीज सामने आए हैं. बीते पांच दिनों में ही यह आंकड़ा एक हजार के पार पहुंच गया है. मिली जानकारी के अनुसार अकेले पटना में मरीजों की संख्या 900 के पार है. राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार प्रभावित जिलों में सघन अभियान चलाया जा रहा है ताकि डेंगू के मरीजों को जल्द से जल्द इलाज दिया जा सके. बता दें कि प्रशासन की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार राज्यभर में डेंगू से प्रभावित मरीजों में 20 फीसदी मरीज की उम्र 17 साल या इससे कम है. राज्य सरकार की तरफ से खासतौर पर छात्रों के लिए एक एडवाइजरी भी जारी की गई है. जिसमें उनसे पूरे बाजू का शर्ट पहनने को कहा गया है. 

बिहार में बाढ़ और बारिश के बाद अब डेंगू-चिकनगुनिया की मार, मरीजों की संख्या 900 के पार पहुंची


गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही महामारी की आशंकाओं के बीच बिहार (Bihar) सरकार ने सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रखते हुए सभी सुविधाओं को जनता के लिए उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे. पटना जिले के लिए 12 डॉक्टरों की टीम की एक कमेटी बनाई गई है. साथ ही पटना के सभी 35 पूजा पंडालों में जरूरी दवाओं समेत स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जा रहा है. बता दें कि पूरे प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनया से प्रभावित लोगों की संख्या 900 के पार पहुंच गई है. जिसमें अकेले पटना में क़रीब 520 मामले हैं. शनिवार को डेंगू के 120 मामले पॉजिटिव पाए गए. जबकि चिकनगुनिया के भी 70 से ज़्यादा मामले सामने आ चुके हैं.

बिहार में बाढ़ और बारिश के बाद अब डेंगू-चिकनगुनिया की मार, मरीजों की संख्या 900 के पार पहुंची

सरकार के आदेश के बाद पटना के 22 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में स्वास्थ्य शिविर लगाए गए हैं. इसके अलावा 10, 11 और 12 अक्टूबर को पटना चिकित्सा महाविद्यालय और नालंदा मेडिकल कॉलेज में निशुल्क स्वास्थ्य शिविर भी लगाए गए हैं. इसके अलावा 104 कॉल सेंटर की सुविधाएं भी 24 घंटों के लिए उपलब्ध रहेंगी.       

भाजपा जलजमाव के बहाने आख़िर नीतीश कुमार को निशाने पर क्यों रख रही है?

टिप्पणियां

किसी भी स्थिति के मद्देनजर लोगों को जागरुक भी किया जा रहा है. स्वास्थ्य शिविरों के अलावा दवाओं और एंबुलेंस की उपलब्धा को भी निश्चित किया है. लोगों के बीच ब्लीचिंग पाउडर के पैकेट भी बांटे जा रहे हैं और डेंगू और चिकनगुनिया के लिए लार्वा स्प्रे कराया जा रहा है. सरकार ने लोगों से अपील की है अपने आसपास हमेशा सफाई रखें, जलजमाव वाली जगह पर ब्लीचिंग पाउड और चूना के मिश्रण का छिड़काव करें, खाना और पानी को ढककर रखें और उबाला हुआ पानी या फिर क्लोरिन से साफ किया हुआ पानी ही पिएं. एंबुलेंस की फ्री सुविधा के लिए टोल फ्री नंबर 102 और डॉक्टरों से सलाह के लिए टोल फ्री नंबर 104 पर कॉल करें.     

Video: बिहार में डेंगू के 775 से ज्यादा मरीज भर्ती



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Sapna Choudhary 'तेरी आंख्या का यो काजल' बजते ही हुईं आउट ऑफ कंट्रोल, भीड़ में ही करने लगीं डांस- देखें Video

Advertisement