NDTV Khabar

बिहार में नहर के तटबंध टूटने के मामले पर पार्टी नेताओं से बात करेंगे अमित शाह

हालांकि बिहार भाजपा के नेता कहते हैं कि सिंचाई विभाग उनके पास कभी नहीं रहा, 2005 से जब से बिहार में साझा सरकार बनी है इस विभाग का जिनता जनता दल यूनाइटेड के पास रहा है. 

31 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में नहर के तटबंध  टूटने के मामले पर पार्टी नेताओं से बात करेंगे अमित शाह

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह.

खास बातें

  1. बिहार में आज नहर के तटबंध टूट गए.
  2. अभी नहर का उद्घाटन भी नहीं हुआ था.
  3. बिहार में अब इस पर राजनीति हो रही है.
पटना: बिहार के भागलपुर में एक नवनिर्मित नहर के तटबंध टूटने से भाजपा चिन्तित हैं. आज देहरादून में इस सम्बन्ध में पूछे गए सवाल के जवाब में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित साह ने कहा कि वो गुरुवार को अपनी पार्टी के नेताओं से बात करेंगे. ये पहली बार है जब बिहार में जुलाई के आख़िरी हफ़्ते में नीतीश कुमार के साथ सरकार बनाने के बाद राज्य के किसी मुद्दे पर अमित साह ने सीधा जवाब दिया है. हालांकि बिहार भाजपा के नेता कहते हैं कि सिंचाई विभाग उनके पास कभी नहीं रहा, 2005 से जब से बिहार में साझा सरकार बनी है इस विभाग का जिनता जनता दल यूनाइटेड के पास रहा है. 

हालाकि वो मानते हैं कि इस मुद्दे पर जो नकारात्मक प्रचार हुआ है उसे भाजपा के नेता शुभ संकेत नहीं मानते हैं. हालांकि इससे पहले इस मुद्दे पर विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर नीतीश कुमार से इस मुद्दे पर भी सवाल किए. यहां ट्वीट लगा दीजिए.
VIDEO: उद्घाटन से पहले टूटा नहर का तटबंध

लेकिन जनता दल यूनाइटेड का कहना है कि ये कोई भ्रष्टाचार का मुद्दा नहीं बल्कि अमित शाह का परिणाम है. अगर एक साथ पांच पम्प से पानी की निकासी नहीं की जाती तब शायद ये नौबत नहीं आती. उनका आरोप है कि एनटीपीसी ने अगर अंडरपास का निर्माण नहीं किया होता तो शायद नहर की दीवार नहीं गिरती.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement