NDTV Khabar

बिहार में उजागर हुआ एक और घोटाला, आरजेडी ने किया नीतीश कुमार पर हमला

तिवारी ने एक बयान में कहा कि घोटालों का रिकॉर्ड बना रही है नीतीश सरकार. धान ख़रीद घोटाला, गर्भाशय घोटाला, मेधा घोटाला, दलित छात्रों की छात्रवृत्ति का घोटाला, सृजन घोटाला और अब महादलित मिशन में घोटाला. ये घोटाले उजागर हुए है. और न जाने कितने घोटाले उजागर होने के इंतजार में होंगे. 

5.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में उजागर हुआ एक और घोटाला, आरजेडी ने किया नीतीश कुमार पर हमला

खास बातें

  1. बिहार में महादलित विकास मिशन में एक घोटाला
  2. घोटाले के बाद विपक्ष का नीतीश पर हमला
  3. नीतीश पर कड़ी कार्रवाई का दबाव
पटना: बिहार में महादलित विकास मिशन में एक घोटाला क्या उजागर हुआ विपक्षी दल इसी बहाने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोल रहे हैं. राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानन्द तिवारी ने कहा है कि जैसे-जैसे हर एक विभाग में नए-नए घोटाले सामने आ रहे हैं उससे यही लग रहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का रुतबा और इक़बाल धीरे-धीरे ख़त्म हो रहा है.

तिवारी ने एक बयान में कहा कि घोटालों का रिकॉर्ड बना रही है नीतीश सरकार. धान ख़रीद घोटाला, गर्भाशय घोटाला, मेधा घोटाला, दलित छात्रों की छात्रवृत्ति का घोटाला, सृजन घोटाला और अब महादलित मिशन में घोटाला. ये घोटाले उजागर हुए है. और न जाने कितने घोटाले उजागर होने के इंतजार में होंगे. 

यह भी पढ़ें : ट्रेनिंग घोटाला : निगरानी विभाग ने तीन वरिष्ठ IAS अधिकारियों समेत 10 के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की

टिप्पणियां
शिवानन्द तिवारी का कहना है कि इनमें प्रत्येक घोटाले के उजागर होने के बाद मुख्यमंत्री जी का रटा-रटाया वक्तव्य होता है, ‘जाँच का आदेश दे दिया गया है, दोषी बक्से नहीं जाएंगे, फिर कुछ अंतराल के बाद नया घोटाला सामने आ जाता है. बिहार के प्रशासनिक तंत्र में भ्रष्टाचार का घुन लग गया है, जहाँ हाथ डालिए वहीं पोल मिलता है. तिवारी के अनुसार यही लगता है कि नीतीश कुमार का रूतबा और इक़बाल दोनों लगभग समाप्त हो गया है. 

इस बीच राज्य निगरानी विभाग महादलित मिशन में हुए घोटाले के सम्बन्ध में जल्द कुछ आईएएस अधिकारियों की गिरफ़्तारी की प्रक्रिया शुरू करने वाली हैं. विभाग का मानना है कि उनके पास पर्याप्त साक्ष्य हैं जिनके आधार पर ये कार्रवाई की जा रही है. इस मामले में तीन आईएएस अधिकारियों को आरोपी बनाया गया हैं. 
VIDEO: मिट्टी घोटाले में फंसे आरजेडी नेता तेज प्रताप यावद

हालांकि बिहार सरकार के निगरानी विभाग की जाँच पर हमेशा अंगुली उठती रही है. पिछले साल सासाराम में पदस्थापित एक आईएएस अधिकारी जितेंद्र गुप्ता को गिरफ़्तार किया गया था. बाद में सारे आरोप तथ्यहीन पाए गए और राज्य सरकार की जमकर फ़ज़ीहत हुई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement