NDTV Khabar

शराबबंदी पर पीछे नहीं हटेंगे, चाहे इसके लिए जो भी करना पड़े : नीतीश कुमार

शराबबंदी का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के अपनी सरकार के संकल्प को दोहराते हुए कहा कि इससे अपराध, घरेलू हिंसा और सड़क हादसों में कमी आई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शराबबंदी पर पीछे नहीं हटेंगे, चाहे इसके लिए जो भी करना पड़े : नीतीश कुमार

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर शराबबंदी को ऐतिहासिक कदम बताते हुए कहा कि इससे समाज में कई सकारात्‍मक बदलाव आए हैं. उन्‍होंने शराबबंदी का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के अपनी सरकार के संकल्प को दोहराते हुए कहा कि इससे अपराध, घरेलू हिंसा और सड़क हादसों में कमी आई है.

नीतीश रविवार को पटना में नशा मुक्ति दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. नीतीश ने कहा, 'इस मुद्दे पर एक क़दम भी पीछे नहीं हटेंगे. चाहे जो हो, जितनी भी मेहनत लगे, परिश्रम करना पड़े, लेकिन उसके बावजूद पीछे नहीं हटेंगे.' उन्होंने कहा कि या तो ऊपर वाला ऊपर उठाकर ले जाए लेकिन जब तक हैं तब तक इस मामले पर समझौता नहीं हो सकता. हालांकि उन्होंने माना कि इस रास्ते में बहुत कठिनाई आएगी. नीतीश कुमार ने कहा कि 'जब तक इस धरती पर हैं तब तक छोड़ने वाले नहीं हैं.

इस समारोह में मौजूद राज्य के पुलिस महानिदेशक और राज्य के उत्पाद आयुक्त की तरफ़ इशारा करते हुए नीतीश ने कहा कि 'आपलोग अपने लोगों को दुरुस्त कीजिए क्योंकि अगर अवैध धंधा हो रहा है तब पुलिस और उत्पाद विभाग के लोगों को निश्चित रूप से मालूम होता है कि आख़िर वो कौन लोग हैं.'


टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि उत्पाद विभाग के 17 कर्मचारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई हुई जिसमें आठ लोग अब तक सेवा से बर्खास्त हो चुके हैं. इसके अलावा अब तक 242 पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ शराबबंदी लागू होने के बाद कार्रवाई शुरू की गई जिसमें 80 लोग जेल की हवा खा रहे हैं और 29 लोगों को सेवा से बर्खास्त किया जा चुका है.

बाल विवाह और दहेज प्रथा के अपने अभियान की चर्चा करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि 'कुछ लोग उनका मजाक उड़ाते हैं कि शराबबंदी चूंकी विफल हो गई है इसलिए ये ध्यान हटाने के लिए ये नई शुरुआत की गयी है. लेकिन हमने तो पहले ही ये घोषणा कर दी थी कि शराबबंदी के बाद नशामुक्ति और उसके बाद बालविवाह और दहेज प्रथा, सबके ख़िलाफ़ अभियान चलाया जाएगा.' शराबबंदी के मुद्दे पर अपने आलोचकों को भी जवाब देते हुए नीतीश ने कहा कि न तो राज्य के राजस्व में कमी आई और न ही विदेशी पर्यटकों के संख्या में. इसके अलवा आप पटना या राज्य के किसी शहर में जाकर देख लीजिए कि होटलों में क्या रूम ख़ाली पड़े हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement