NDTV Khabar

बिहार बोर्ड मैट्रिक आंसर शीट घोटाले में बड़ा खुलासा, साढ़े आठ हजार रुपये में कबाड़ को बेची गईं कॉपियां

बिहार राज्य विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) द्वारा आयोजित मैट्रिक परीक्षा 2018 की जांच की जा चुकी 42 हजार से अधिक कॉपियां गायब होने के मामले में अब एक नया खुलासा हुआ है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार बोर्ड मैट्रिक आंसर शीट घोटाले में बड़ा खुलासा, साढ़े आठ हजार रुपये में कबाड़ को बेची गईं कॉपियां

प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना: बिहार राज्य विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) द्वारा आयोजित मैट्रिक परीक्षा 2018 की जांच की जा चुकी 42 हजार से अधिक कॉपियां गायब होने के मामले में अब एक नया खुलासा हुआ है. बिहार बोर्ड मैट्रिक आंसर शीट घोटाला मामले में पुलिस के हाथों गिरफ्तार हुए कबाड़ी का बयान सामने आया है. कबाड़ी के बयान के मुताबिक, करीब साढ़े आठ हजार रुपये में मूल्यांकन की कॉपियां बेची गई है. उसने बताया कि टेम्पू से देर रात स्ट्रॉन्ग रूम से कबाड़ में भेजी गई थी सारी कॉपियां. 

हालांकि, बताया जा रहा है कि अब दोनों कबाड़ियों को जेल भेजने की तैयारी चल ही है. जानकारी यह भी मिली है कि आदेशपाल छटु सिंह ने फोन कर कबाड़ वालों से सौदा किया था. गौरतलब है कि गोपालगंज के एसएस गर्ल्स कॉलेज से करीब 42500 हजार कॉपियों के गायब होने का मामला है, जिसकी वजह से मैट्रिक बोर्ड के रिजल्ट के परिणाम में देरी हो रही है और प्रस्तावित तारीख को आगे बढ़ा दिया गया और अब 26 जून को रिजल्ट आने की संभावना है. 

बता दें कि बिहार बोर्ड द्वारा आयोजित मैट्रिक परीक्षा 2018 की जांच की जा चुकी 42 हजार से अधिक कॉपियां गायब होने के मामले में गोपालगंज जिला के ‘एसएस बालिका प्लस टू’ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य प्रमोद कुमार श्रीवास्तव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है. पटना स्थित बीसीईबी मुख्यालय परिसर में श्रीवास्तव को गिरफ्तार किया गया. 

इससे पहले बीएसईबी के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि गोपालगंज के एसएस बालिका प्लस टू उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के स्ट्रांग रूम से 213 बैग मैट्रिक की उत्तर पुस्तिकाओं के गायब होने के मामले में श्रीवास्तव से पुलिस पूछताछ कर आगे की कार्रवाई करेगी. उन्होंने कहा कि इन गायब उत्तर पुस्तिकाओं में दर्ज अंक पूर्व में ही बीएसईबी को प्राप्त हो गया था, इसलिए मैट्रिक परीक्षा 2018 के परिणाम और इस परीक्षा में टॉप करने वालों की सूची पर इसका कोई असर नहीं पडेगा. आनंद ने बताया कि इस मामले में गोपालगंज के जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को गायब उत्तरपुस्तिकाओं को बरामद करते हुए पूरे मामले की गहन जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया गया है. 

बीएसईबी से प्राप्त जानाकरी के मुताबिक, पटना स्थित समिति मुख्यालय के सभागार में वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2018 का परीक्षाफल आगामी 26 जून पूर्वाहन 11.30 बजे जारी किया जाएगा. वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2018 परीक्षाफल की घोषणा शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा द्वारा की जाएगी. इस अवसर पर शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आर. के. महाजन एवं बीएसईबी के अध्यक्ष आनंद किशोर उपस्थित रहेंगे. उल्लेखनीय है कि वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2018 परीक्षाफल की घोषणा 20 जून को होनी थी.



टिप्पणियां



 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement