NDTV Khabar

बिहार : मुंगेर जिले में कुएं में मिलीं रूस की बनीं 12 एके 47, एक गिरफ्तार

मुंगेर जिले के बरधे गांव में छापेमारी के दौरान कुंए में मिलीं 12 क्लाशनिकोव राइफलें, सभी हथियार अच्छी स्थिति में

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार : मुंगेर जिले में कुएं में मिलीं रूस की बनीं 12 एके 47, एक गिरफ्तार

मुंगेर जिले के बरधे गांव में कुएं से बरामद की गईं एके 47 राइफलें.

खास बातें

  1. गोपनीय सूचना के आधार पर की गई छापेमारी
  2. गुरुवार को रात में कुएं से हथियारों को जब्त किया गया
  3. एक महीने के दौरान बीस एके 47 बरामद की गईं
मुंगेर: बिहार के मुंगेर जिले में 12 और एके 47 राइफल (क्लाशनिकोव राइफल) बरामद की गई हैं. जिले के बरधे गांव में एक कुंए से यह हथियार बरामद किए गए. एक महीने के दौरान यहां बीस एके 47 बरामद की जा चुकी हैं. इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.

मुंगेर जिले के बरधे गांव में छापेमारी के दौरान 12 एके 47 राइफल बरामद की गई हैं. पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. मुंगेर के पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने बताया कि गोपनीय सूचना के आधार पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ऑपरेशंस) राणा नवीन के नेतृत्व में पुलिस की एक टीम ने गुरुवार को रात में छापेमारी की और एक कुएं से इन हथियारों को जब्त किया.

राम ने बताया कि गांव के निवासी तनवीर आलम को इस संबंध में गिरफ्तार कर हिरासत में भेज दिया गया है. एएसपी (ऑपरेशंस) ने बताया कि यह सभी रूस में बने हुए हथियार हैं और अच्छी स्थिति में है. इससे कुछ समय पहले भी जिले में की गई तीन छापेमारियों में आठ एके 47 राइफलें जब्त की गई थीं.

यह भी पढ़ें : बिहार में कौन किराए पर दे रहा अपराधियों को एके-47, हो चुकीं कई हत्याएं

मध्यप्रदेश के जबलपुर में स्थित सेन्ट्र्ल आर्डिनेंस डिपो से विगत छह वर्षों में सत्तर एके-47 राइफलें अवैध ढंग से बिहार के मुंगेर जिले में हथियार तस्करों को बेची गई हैं. पुलिस ने पूर्व में जमीन की खुदाई करके दो एके-47 राइफलें बरामद की थीं.
पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने बताया कि मुंगेर पुलिस ने जब एके-47 राइफल की पहली खेप बरामद की थी तो शस्त्र तस्करों ने 12 एके 47 राइफलों को पुलिस की नजर से बचाने के लिए मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बरधे गांव में एक गहरे कुआं में फेंक दिया था.

मुंगेर पुलिस ने झारखंड के हजारीबाग से हथियार तस्कर तनवीर आलम को हाल में गिरफ्तार किया है जिसकी निशानदेही पर मुंगेर पुलिस ने बीती रात मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बरधे ग्राम के कुंए से 12 एके 47 बरामद की गई हैं.

यह भी पढ़ें : अवैध हथियारों के बाजार में देशी AK-47 और कार्बाइन गन भी, पुलिस अचंभित

गौरतलब है कि जबलपुर में स्थित केन्द्र सरकार के ‘सेन्ट्र्ल आर्डिनेंस डिपो‘ से डिपो के स्टोर के प्रभारी की मिलीभगत से वर्ष 2012 से वर्ष 2018 तक कुल 70 एके 47 राइफलें मुंगेर के हथियार तस्करों को बेची गईं. जबलपुर पुलिस इस मामले में सेंट्रल आर्डिनेंस डिपो के अवकाश प्राप्त आर्मरर पुरुषोत्तम लाल दास, उसकी पत्नी चन्द्रावती देवी, उसके पुत्र शीलेन्द्र और सेंट्रल आर्डिनेंस डिपो के स्टोर के प्रभारी सुरेश शर्मा को पहले की गिरफ्तार कर चुकी है.
इस मामले में मुंगेर पुलिस अब तक इमरान आलम और शमशेर आलम सहित दस हथियार तस्करों  को गिरफ्तार करके जेल भेज चुकी है.

टिप्पणियां
VIDEO : कबाड़ के हथियारों की तस्करी

पुलिस अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार हथियार तस्करों ने पुलिस के समक्ष बयान दिया है कि उन्होंने एके 47 अपराधियों और माओवादियों को बेचे हैं. यह तस्कर जबलपुर से एके 47 चार लाख रुपये में खरीदते थे और मुंगेर में आठ से दस लाख रुपये में बेचते थे.
(साथ में मुंगेर से श्रीकृष्ण प्रसाद)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement