NDTV Khabar

सिविल सेवा में चयनित बिहार के 40 युवाओं को 'बिहार गौरव सम्मान' से किया गया सम्मानित

सामाजिक संस्था वॉयस ऑफ बिहार के तीसरे 'बिहार प्रतिभा सम्मान समारोह' का आयोजन दिल्ली के कंस्टीट्यूशन क्लब में किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सिविल सेवा में चयनित बिहार के 40 युवाओं को 'बिहार गौरव सम्मान' से किया गया सम्मानित

'बिहार गौरव सम्मान' से सम्मानित हुए बिहार के युवा

नई दिल्ली:

सामाजिक संस्था वॉयस ऑफ बिहार के तीसरे 'बिहार प्रतिभा सम्मान समारोह' का आयोजन दिल्ली के कंस्टीट्यूशन क्लब में किया गया. इस समारोह में यूपीएससी-बीपीएससी में चयनित उम्मीदवारों समेत अन्य क्षेत्रों में बिहार के साथ-साथ देश का नाम रौशन करने वाले करीब 50 युवा प्रतिभाओं को 'बिहार गौरव सम्मान' से सम्मानित किया गया. सिविल सर्विसेज की परीक्षा में चयनित बिहार के सभी अभ्यर्थी रविवार को दिल्ली के कंस्टीट्यूशन क्लब सभागार में उपस्थित हुए और उन्हें मुख्य अतिथि के हाथों सम्मानित किया गया. इस दौरान इंडिया न्यूज के पूर्व मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत ने कहा कि बिहार की धरती शुरू से ही प्रतिभाओं की जननी रही है. सिविल सेवा में बिहारी प्रतिभाओं ने हमेशा परचम लहराया है. बिहार के छात्र सिविल सेवा में चयनित होकर अपने इलाके का नाम रोशन करते हैं यह बड़ी बात नहीं है, बल्कि सीमित संसाधन में वे अपने आपको साबित करते हैं. यह बड़ी बात है. 


वहीं, बिहार विधान परिषद के सदस्य संजय पासवान ने यूपीएससी एग्जाम में चयनित हुए बिहार के सभी प्रतिभागियों को सम्मानित किया. साथ ही उन्होंने बिहार का विकास करने के लिए प्रतिबद्ध रहने का संकल्प भी दिलाया. शिक्षाविद प्रोफेसर संगीत रागी ने युवाओं का मनोबल बढ़ाया और उनकी उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई दी. उन्होंने कहा कि बिहार के अधिकतर छात्र जीवन में कुछ अच्छा मुकाम हासिल करने के लिए बोर्ड परीक्षा के बाद गांव-प्रदेश छोड़कर दूसरे राज्य पढ़ने और परीक्षाओं की तैयारी करने चले जाते हैं. उन्होंने यूपीएससी में चयनित प्रतिभागियों से बिहार में शिक्षा का बेहतर माहौल बनाने के लिए प्रयास करने की अपील की, साथ ही उन्होंने बिहार में शिक्षा पर काम करने की वकालत की, ताकि बेहतर माहौल मिलने से छात्रों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए दूसरे राज्यों में न जाना पड़े. 

टिप्पणियां


कार्यक्रम में सीआरपीएफ के डीआईजी संजय कुमार ने कहा कि बिहार में प्रतिभाओं की कमी नहीं, बस जरूरत है, उसे सही मार्गदर्शन और संसाधन की. उन्होंने कहा कि जब आप सरकारी ओहदे पर पहुंच जाते हैं, तो आपके सामने सरकारी मुलाजिम होने के नाते कई सीमाएं होती हैं, मगर बावजूद इसके अपने समाज और गांव को नहीं भूलना चाहिए, जहां से हमारी जमीन जुड़ी है. कार्यक्रम में बिहार से इस साल संघ लोकसेवा आयोग में चयनित 30 प्रतिभागियों समेत अन्य क्षेत्रों मसलन संगीत, सामाजिक कार्य, खेल-साहित्य, उद्दम के क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले और बिहार का नाम रोशन करने वाले प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया. 


इस कार्यक्रम में यूपीएससी में बिहार के प्रतिभागी, बिग बॉस का चेहरा रह चुके दीपक ठाकुर, बैडमिंटन और फिटनेस में नाम रोशन करने वाली प्रतिभा प्रिया समेत कई प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया. बिहार के विभिन्न जिलों से आए सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद ज्ञापन वॉयस ऑफ बिहार के अध्यक्ष ब्रजेश कुमार ने किया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement