NDTV Khabar

बिहार : LIC एजेंट महेंद्र गुप्ता अपहरणकर्ताओं के चंगुल से मुक्त, लेकिन फिरौती की बात पर पुलिस और परिवार ने साधी चुप्पी

लखीसराय जिले से 3 नवंबर की शाम को अगवा किए गए बीमा एजेंट महेंद्र गुप्ता उर्फ टुनटुन को पुलिस ने पड़ोसी जिला जमुई से शुक्रवार देर रात सुरक्षित बरामद कर लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार : LIC एजेंट महेंद्र गुप्ता अपहरणकर्ताओं के चंगुल से मुक्त, लेकिन फिरौती की बात पर पुलिस और परिवार ने साधी चुप्पी

महेंद्र के घर लौट आने से परिवार के लोग खुश हैं, लेकिन फिरौती के बारे में वो खुलकर कुछ नहीं बोल रहे हैं

पटना: बिहार में इन दिनों फिरौती के लिए अपहरण की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं. भले ही सरकार पुलिस की कार्रवाई पर अपनी पीठ थपथपाती हो, मगर अपराधियों के ऊपर पुलिस का खौफ दिनों दिन कम होता जा रहा है. एलआईसी एजेंट महेंद्र गुप्ता को पुलिस ने एक सप्ताह के बाद अपहरकर्ताओं के चंगुल से मुक्त करा लिया है, लेकिन फिरौती के मुद्दे पर न पुलिस कुछ कह रही है और न ही परिवार के लोग. लखीसराय जिले के हलसी थाना क्षेत्र के ककरौडी गांव के पास 3 नवंबर की शाम अगवा किए गए बीमा एजेंट महेंद्र गुप्ता उर्फ टुनटुन को पुलिस ने पड़ोसी जिला जमुई से शुक्रवार देर रात सुरक्षित बरामद कर लिया. जमुई पुलिस के सहयोग से लखीसराय एसआईटी ने महेंद्र को चंद्रदीप थाने के बालाडीह गांव की तलहटी से बरामद किया है. जंगली इलाका होने के कारण कई जिलों की पुलिस को अभियान चलाते हुए काफी मशक्कत करनी पड़ी. अपह्रत महेंद्र अपराधियों की पिटाई से घायल भी बताए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें : अपराधियों के चंगुल से पुलिस ने व्यापारी को छुड़ाया, फिरौती की रकम भी बरामद

रात के अंधेरे में इस ऑपरेशन में पुलिस को तीन घंटे से ज्यादा का समय लगा. अपहृत की जान का खतरा भांपते हुए पुलिस ने अंत तक काफी संयम से कम लिया. प्राप्त जानकारी के मुताबिक अपहरणकर्ताओं ने महेंद्र गुप्ता की रिहाई के लिए 30 लाख की फिरौती मांगी थी. सूत्र बताते हैं कि 12 लाख की फिरौती दी गई, उसके बाद फिल्मी स्टाइल में उसे मुक्त किया गया. सूत्रों के मुताबिक पुलिस के समक्ष ही 6 कि संख्या में अपराधी आए और अपह्रत के परिजनों ने 12 लाख की फिरौती दी, तब जाकर अपह्रत को छोड़ा गया.

हालांकि लखीसराय के एसपी अरविंद ठाकुर ने बताया की एसआईटी की टीम ने लखीसराय जिला पुलिस एवं जमुई पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन में नक्सल प्रभावित चन्द्र दीप थाना क्षेत्र के बालाडीह जंगल से महेंद्र गुप्ता को सकुशल बरामद कर लिया. पुलिस की खबर मिलते ही अपहरणकर्ता एजेंट को छोड़कर फरार हो गए.

VIDEO : कटिहार से अगवा बच्ची नेपाल में बरामद
उन्होंने कहा कि एजेंट महेंद्र गुप्ता को चोटें आई हैं और उन्हें इलाज के लिए जमुई अस्पताल ले जाया गया. उन्होंने इस अपहरण कांड के कई बिंदुओं पर विस्तार से बातचीत करने की बात कही है. महेंद्र के घर लौट आने से परिवार के लोग खुश हैं और पुलिस को धन्यवाद दे रहे हैं. मगर फिरौती की रकम की बात कहने में सहमे-सहमे से दिख रहे हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement