NDTV Khabar

बिहार: भ्रष्‍टाचार के खिलाफ सबसे बड़ी कार्रवाई, मुजफ्फरपुर के SSP के ठिकानों पर छापे

गृह विभाग से जारी अधिसूचना के अनुसार भारतीय पुलिस सेवा के 1997 बैच के अधिकारी तथा मुजफ्फरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है. 

236 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार: भ्रष्‍टाचार के खिलाफ सबसे बड़ी कार्रवाई, मुजफ्फरपुर के SSP के ठिकानों पर छापे

एसएसपी विवेक कुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति रखने का मामला दर्ज किया गया है

खास बातें

  1. विवेक कुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति रखने का मामला दर्ज किया गया है
  2. बंद हो चुके नोटों में 500 और 1000 के 45 हज़ार की करेंसी भी बरामद की है
  3. एसएसपी विवेक की अधिकारिक आय एक करोड़ 56 लाख थी
पटना : बिहार में भ्रष्टाचार के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मुजफ्फरपुर के वरीय पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार के आवास पर हुई. इसके अलावा उनके रिश्‍तेदारों के ठिकानों पर भी छापेमारी जारी है. सूत्रों के मुताबिक, विशेष निगरानी विभाग ने अब तक उनके पास से साढ़े सात लाख नकद और साढ़े पांच लाख के आभूषण के अलावा 45 हज़ार की करेंसी भी बरामद की है, जो नोटबंदी के बावजूद उन्होंने अपने पास रखी हुई थी. विवेक कुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति रखने का मामला दर्ज किया गया है. इसके बाद विवेक कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है. गृह विभाग से जारी अधिसूचना के अनुसार भारतीय पुलिस सेवा के 1997 बैच के अधिकारी तथा मुजफ्फरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है.
 
आईआरसीटीसी मामले में लालू प्रसाद यादव और तेजस्वी यादव समेत अन्य के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

इस संबंध में दर्ज एफआईआर के अनुसार, जहां उनकी अधिकारिक आय एक करोड़ 56 लाख थी. वहीं उनके द्वारा घोषित संपत्ति दो करोड़ छह लाख की है. विभाग के अनुसार, आय का मतलब उन्होंने जितना पैसा कमाया और उसमें एक भी पैसा उन्होंने जीवन पर ख़र्च नहीं किया. विवेक कुमार ने बैंक में जमा राशि के अलावा फिक्‍स डिपोजिट और किसान विकास पत्र के रूप में दिखाया है.  

टिप्पणियां
बिहार में भी कैश किल्लत, तेजस्वी ने कहा- नोटबंदी घोटाले के चलते बैंकों ने खड़े किए हाथ

छापेमारी में विवेक कुमार ने कई भूखंड के कागजात के अलावा पैसे की लेन देन में उनके माता-पिता और सास ससुर भी शामिल हैं और उसके पुख़्ता सबूत मिले हैं. विवेक पर शराब माफिया के साथ सांठगांठ का आरोप लगता रहा है. इसके अलावा उनके ऊपर मुजफ्फरपुर शहर में कई विवादास्पद मामले में आर्थिक लाभ लेने के आरोप भी लगे हैं. फिलहाल मुजफ्फरपुर के अलवा उतर प्रदेश के कई शहरों में उनके परिवार वालों के यहां छापेमारी जारी है. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement