NDTV Khabar

बिहार बोर्ड ने उत्तर पुस्तिका की दोबारा जांच कराने के लिए छात्रों को दिया समय

बोर्ड के अनुसार छात्र दिए गए समय के अंदर अपनी उत्तर पुस्तिका की दोबारा जांच कराने के लिए आवेदन कर सकते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार बोर्ड ने उत्तर पुस्तिका की दोबारा जांच कराने के लिए छात्रों को दिया समय

प्रतीकात्मक चित्र

पटना:

इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में इस वर्ष अंक पत्रों में विसंगतियों को लेकर छात्र 16 जून तक आवेदन कर सकते हैं. इसकी जानकारी शनिवार को परीक्षा निकाय ने दी. बोर्ड के अनुसार छात्र दिए गए समय के अंदर अपनी उत्तर पुस्तिका की दोबारा जांच कराने के लिए आवेदन कर सकते हैं. बिहार स्कूल परीक्षा बोर्ड (बीएसईबी) ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि आवेदकों के कुछ मामलों में जांच में उनके कुछ अंक बढ़ सकते हैं और कुछ मामलों में घट भी सकते हैं. इंटरमीडिएट के परीक्षार्थी यहां बीएसईबी कार्यालय के बाहर पिछले कुछ दिनों से धरना दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें: ये हैं बिहार की साइंस टॉपर, NEET में भी किया था ऑल इंडिया टॉप

उनमें से कई ने दावा किया है कि उन्होंने जेईई और नीट जैसी प्रतियोगिता परीक्षाएं पास कर ली हैं लेकिन इंटरमीडिएट में कम अंक आने की वजह से काउंसेलिंग में हिस्सा लेने से वंचित रह सकते हैं. भाजपा के वरिष्ठ सांसद सी . पी . ठाकुर सहित कई नेताओं ने इसकी आलोचना की है. ठाकुर ने कहा कि बिहार में परीक्षा तंत्र अब भी खस्ताहाल है.


टिप्पणियां

VIDEO: परीक्षा से पहले उतरवाए गए जूते. 

बहरहाल परीक्षार्थियों के पिछले वर्ष जितना अंक आने या कुल अंक से ज्यादा अंक प्राप्त करने के मीडिया में आए कई मामलों का हवाला देते हुए बीएसइबी ने स्पष्ट किया कि यह उन्हीं उम्मीदवारों का है जिन्होंने अंक सुधारने के लिए इस बार फिर से परीक्षा दी थी. (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement