NDTV Khabar

बिहार संकट : शह मात का खेल जारी, अब तक क्या रही जेडीयू और आरजेडी की चाल

हाल ही में सीबीआई ने लालू यादव और उनके परिवार के खिलाफ केस दर्ज किया है. एक केस में तेजस्वी यादव का भी नाम है. जब से यह केस दर्ज हुआ है राज्य की राजनीति गर्मा गई है.

147 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार संकट : शह मात का खेल जारी, अब तक क्या रही जेडीयू और आरजेडी की चाल

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव.

खास बातें

  1. बिहार की राजनीति में लालू यादव और उनके परिवार पर इन दिनों खूब चर्चा
  2. तेजस्वी यादव को लेकर गठबंधन के दलों में रस्साकसी
  3. सीबीआई ने लालू यादव और उनके परिवार के खिलाफ केस दर्ज किया
नई दिल्ली: बिहार की राजनीति में लालू यादव और उनके परिवार पर इन दिनों खूब चर्चा चल रही है. वर्तमान में बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को लेकर गठबंधन के दलों में रस्साकसी का माहौल बना हुआ है. बिहार बीजेपी के नेता सुशील मोदी पिछले काफी समय से लालू यादव और उनके परिवार पर भ्रष्टाचर के आरोप लगाते आ रहे हैं. 

हाल ही में सीबीआई ने लालू यादव और उनके परिवार के खिलाफ केस दर्ज किया है. एक केस में तेजस्वी यादव का भी नाम है. जब से यह केस दर्ज हुआ है राज्य की राजनीति गर्मा गई है. विपक्षी दल बीजेपी ने तेजस्वी यादव के इस्तीफे की मांग की है और और ऐसा न होने पर राज्य की विधानसभा में हंगामे की बात कही है साथ ही सड़कों पर आंदोलन की चेतावनी भी दी है. 

ये भी पढ़ें : गठबंधन में गांठ : कैबिनेट मीटिंग के बाद नीतीश, तेजस्वी और तेजप्रताप की अलग से बैठक

आइए समझें अब तक क्या हुआ
जेडीयू की बात : 
जेडीयू ने इस पूरे मामले में अभी तक बहुत ज्यादा कुछ नहीं कहा है. पार्टी इस पूरे मामले में आरजेडी पर ही ठीकरा फोड़ रही है और अपेक्षा कर रही है कि पार्टी अपने भीतर से ही कोई हल निकाल ले. इस पूरे केस में जेडीयू ने कोई बात स्पष्ट नहीं की है. राष्ट्रपति कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दिल्ली आए जेडीयू अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है. 

ये भी पढ़ें : तेजस्वी पर इस्तीफे का दबाव बढ़ाने की कोशिश में नीतीश, जेडीयू विधायक दल की बैठक आज

इससे पहले नीतीश कुमार की ओर कहा गया था कि पार्टी ने तेजस्वी यादव को सफाई देने के लिए पिछले शनिवार शाम तक का समय दिया था. लेकिन उपमुख्यमंत्री ने तब तक न तो सफाई दी और न ही इस्तीफा.

ये भी पढ़ें : शुक्रवार तक तेजस्वी यादव का इस्तीफा? नीतीश कुमार और लालू यादव ने बुलाई बैठक, 8 बातें

आरजेडी का पक्ष : इस पूरे प्रकरण पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने केंद्र में सत्तारूढ़ और बिहार में विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर नकारात्मक राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इससे न देश का और न ही राज्य का भला होना है. उन्होंने कहा कि राजद अपनी विचारधारा से समझौता नहीं करेगा. राजद की लड़ाई सांप्रदायिक शक्तियों से है. 

ये भी पढ़ें : तेजस्वी यादव के मुद्दे पर मेरी सरकार को कोई खतरा नहीं : नीतीश कुमार

तेजस्वी का बयान  : अपने इस्तीफे पर मीडिया में हो रही चर्चा पर तेजस्वी यादव ने कहा था कि इस्तीफे की चर्चा केवल मीडिया की देन है. यह सब मीडिया का किया कराया है. सबकुछ प्रायोजित है. वहीं आरजेडी विधायकों की एक बैठक लालू यादव के घर पर हुई थी. बैठक के बाद आरजेडी ने कहा था कि वो अपने पुराने फ़ैसले पर कायम है यानि तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं होगा. 

ये भी पढ़ें : महागठबंधन में जारी जुबानी जंग के बाद अब 'पोस्टर वार', जेडीयू प्रवक्ताओं पर साधा गया निशाना

बता दें कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा तेजस्वी को भ्रष्टाचार के एक मामले में आरोपी बनाए जाने के बाद उपमुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग उठने लगी है. राजद प्रमुख लालू प्रसाद के छोटे बेटे तेजस्वी 2015 में पहली बार चुनाव लड़े और सीधे उपमुख्यमंत्री बनाए गए. उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला उस समय का है, जब वह महज 14 साल के थे.

 VIDEO : बिहार की राजनीति पर खास रिपोर्ट


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement