रक्षाबंधन पर लोगों को पेड़ों को राखी बांधनी चाहिए : सुशील कुमार मोदी

बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने राज्य के लोगों से अपील की है कि वह इस रक्षाबंधन पर अपने परिसर व आसपास के पेड़ों को राखी बांध उन्हें और पर्यावरण को बचाने का संकल्प लें.

रक्षाबंधन पर लोगों को पेड़ों को राखी बांधनी चाहिए : सुशील कुमार मोदी

सुशील कुमार मोदी बिहार के डिप्टी सीएम हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • बिहार के डिप्टी सीएम हैं सुशील कुमार मोदी
  • मोदी के पास पर्यावरण, वन विभाग का भी जिम्मा
  • रक्षाबंधन पर की पेड़ों को राखी बांधने की अपील
पटना:

आज (सोमवार) देश में रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) का त्योहार मनाया जा रहा है. बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने राज्य के लोगों से अपील की है कि वह इस रक्षाबंधन पर अपने परिसर व आसपास के पेड़ों को राखी बांध उन्हें और पर्यावरण को बचाने का संकल्प लें. उन्होंने कहा कि हर साल रक्षाबंधन पर बड़े स्तर पर इस तरह के कार्यक्रम कराए जाते हैं लेकिन इस साल कोरोना महामारी की वजह से यह मुमकिन नहीं है.

डिप्टी सीएम सुशील मोदी के पास बिहार सरकार में वित्त के अलावा पर्यावरण एवं वन विभाग का भी जिम्मा है. रविवार को रक्षाबंधन के मौके पर उन्होंने कहा, 'हर किसी को इस काम के लिए आगे आना चाहिए और अपने घरों व आसपास के पेड़ों को राखी बांध उन्हें बचाने का संकल्प लेना चाहिए.' इससे पहले 9 अगस्त को 2.51 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया था. इस दिन को 'बिहार पृथ्वी दिवस' के रूप में मनाया जाता है. इस बार इस लक्ष्य को कोरोना महामारी के चलते एक महीने पहले ही निर्धारित किया गया है.

सुशील मोदी ने RJD को बताया कमजोर छात्र, तो तेजस्वी यादव बोले - राजद के डर से 24 साल से नीतीश कुमार के पिछलग्गू बने हुए हो...

सुशील मोदी ने सभी स्वयंसेवी संगठनों, जीविका दीदी, आंगनवाड़ी केंद्रों केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों, पब्लिक सेक्टर, सरकारी संस्थानों, गौशालाओं, मठों और किसानों से 'बिहार पृथ्वी दिवस' पर कम से कम एक पेड़ लगाने की अपील की है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: सुशील मोदी ने वित्त मंत्री को लिखा, 'केंद्र प्रायोजित 66 योजनाओं का खर्च वहन करे केंद्र सरकार'



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)