Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

बिहार: इंसेफेलाइटिस से मरने वाले बच्चों के परिजनों ने रोका था CM नीतीश का 'रास्ता', पुलिस ने दर्ज की FIR

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इस बीमारी की वजह से राज्य के 20 जिलों में 152 मौतें हो चुकी हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार: इंसेफेलाइटिस से मरने वाले बच्चों के परिजनों ने रोका था CM नीतीश का 'रास्ता', पुलिस ने दर्ज की FIR
पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इंसेफेलाइटिस से पीड़ित लोगों से मिलने मुजफ्फरपुर जाने वाले थे. हरिवशंपुर गांव के लोगों को लगा था कि नीतीश कुमार सड़क के रास्ते जाएंगे, इसी उम्मीद में लोगों ने उस रास्ते को जाम कर दिया. लेकिन प्रशासन को यह नागवार गुजरा. भगवानपुर थाने ने गांववालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली. जिन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है, उनमें चार लोग ऐसे हैं, जिनके बच्चों की इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम की वजह से मौत हो गई थी. बता दें, बिहार में अब तक 150 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है.

सोमवार को आईएमए के एक दल ने कहा है कि बिहार के मुजफ्फ़रपुर में इंसेफेलाइटिस बीमारी से होने वाली मौतों में ‘लीची' को खाना मुख्य वजह नहीं है क्योंकि इससे नवजात भी प्रभावित हुए हैं. बीमारी से हुई मौतों की जांच करने वाले इस दल ने कहा कि इनमें कुपोषण और मौजूदा गर्मी व उमस का पर्याप्त योगदान है. आईएमए के एक दल ने कहा कि पानी की कमी(डिहाइड्रेशन), खून में चीनी की अत्याधिक कमी (हाइपोग्लूकोमिया) और गर्मी लगने की भी खासी भूमिका है. उन्होंने कहा कि गुनगुने पानी से स्पंज, अधिक मात्रा में पानी पीने और पर्याप्त भोजन लेने से इस बीमारी में फायदा मिल सकता है.

gbsp9ii8

मुजफ्फरपुर में जिस अस्पताल में चमकी बुखार से हुई 108 बच्चों की मौत, वहां मिले मानव कंकाल


चार सदस्यों वाले इस दल ने कहा कि स्वास्थ्य जागरूकता पर केंद्रित एक कार्यक्रम चलाने के साथ बच्चों को मुफ्त में खाना देना होगा खासकर रात का खाना. इसके अलावा ओआरएस (ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन) का घोल सार्वजनिक रूप से मुहैया किया जाना चाहिये. इससे इस बीमारी के फैलाने का रोकने में मदद मिलेगी. रविवार को बिहार के मुजफ्फ़रपुर में दो और बच्चों की इस बीमारी से मौत हो गई. इसे स्थानीय लोग ‘चमकी बुखार' भी कहते हैं. राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इस बीमारी की वजह से राज्य के 20 जिलों में 152 मौतें हो चुकी हैं.

मुजफ्फरपुर के अस्पताल में कन्हैया कुमार को नहीं मिली घुसने की इजाजत, तो बोले...

आईएमए टीम ने कहा कि इस बीमारी की वजह के बारे में निश्चित तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता लेकिन अधिक गर्मी, नमी और उमस इसमें एक भूमिका निभाते हैं लेकिन लीची खा लेना इसकी मुख्य वजह नहीं हो सकती है क्योंकि इसकी चपेट में नवजात भी आये हैं.

मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर PM मोदी-अमित शाह की चुप्पी को लेकर कुशवाहा ने उठाए सवाल, कही यह बात

कांग्रेस ने बिहार में बच्चों की मौत को लेकर राज्य की भाजपा-जदयू सरकार पर निशाना साधते हुए सोमवार को आरोप लगाया कि बच्चों की ‘हत्या' के लिए डबल इंजन वाली सरकार जिम्मेदार है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘भाजपा की डबल इंजन की सरकार व कुशासन बाबू की बिहार सरकार ही मुजफ्फरपुर में सैकड़ों बच्चों की हत्या के लिए सीधे जिम्मेदार हैं. विशेष पोषण कार्यक्रम में बजट घटाकर आधा कर दिया गया। अनुसूचित जाति व जनजातियों के बच्चों के बजट में भारी कटौती की गई.'

टिप्पणियां

लीची खाना नहीं, बल्कि गरीबी भी हो सकती है बिहार में 150 से ज्यादा बच्चों की मौत की वजह

Video: मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने मांगा जवाब



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली CAA हिंसा : 6 इलाकों में लगी आग, फायर ब्रिगेड की गाड़ी को भी फूंक डाला, रातभर दुकानों में तोड़फोड़-लूटपाट

Advertisement