NDTV Khabar

तनाव के बाद जमुई, भागलपुर और कटिहार में पटरी पर लौट रही जिंदगी

बिहार पुलिस के आलाधिकारी प्रत्यय अमृत और गुप्तेस्वर पांडेय को हेलीकॉपटर से बिहार के कटिहार में भेजा गया. राज्य के पुलिस अधिकारी इन सभी घटनाओं में असामाजिक तत्वों का हाथ बता रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तनाव के बाद जमुई, भागलपुर और कटिहार में पटरी पर लौट रही जिंदगी

बिहार पुलिस (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना:

बिहार के कई जिलों में दुर्गा पूजा और मोहर्रम के समय हुए तनाव के कारण अभी भी स्थिति सामान्य नहीं हुई है. जमुई जिले के लोगों को आखिरकार आज से हल्की राहत महसूस हुई है. कई जिलों में बंद इंटरनेट सेवा को अभी भी चालू नहीं किया गया है. वहीं आज से जमुई एवं भागलपुर जिलों में इंटरनेट सेवा शुरु होने की सूचना मिल रही है. बिहार पुलिस के आलाधिकारी प्रत्यय अमृत और गुप्तेस्वर पांडेय को हेलीकॉपटर से बिहार के कटिहार में भेजा गया. राज्य के पुलिस अधिकारी इन सभी घटनाओं में असामाजिक तत्वों का हाथ बता रहे हैं.

टिप्पणियां

बिहार के जमुई में दंगों के घटना के बाद लोग आज घरों के बाहर निकले. सूचना के अनुसार कुछ जगहों पर सुबह दुकानें खुलीं और फिर धीरे-धीरे बंद हो गईं. कहा जा रहा है कि अफवाहों के बाद दुकानदानों ने दुकानें बंद कर दीं. डीएम कौशल किशोर और एसपी जयंत कान्त ने लोगों से शांति व्यवस्था बहाल करने की अपील की. साथ ही उन्होंने लोगों से आपसी सौहार्द बनाए रखने की अपील की. पुलिस ने लोगों से कहा कि किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें.  जहां पर भी कोई अफवाह फैलाता या गड़बड़ी करता दिखाई दे तो उसकी सूचना तुरंत पुलिस को दें. पुलिस ने तुरंत कार्रवाई का आश्वासन दिया है.


यह भी पढ़ें : बिहार : विवादित जमीन की रखवाली में लगाए गए पुलिस कर्मी ने ही खरीद ली जमीन
 
बता दें कि दंगों के बाद भय के माहौल और बाजार बंद रहने और बाहर से माल की सप्लाई रुक जाने के कारण दंगाग्रस्त इलाकों में बच्चों को दूध की समस्या का सामना करना पड़ा रहा है. सबसे बड़ी समस्या छोटे बच्चों के अभिभावकों के सामने आ रही है. कुछ घरों में राशन खत्म हो गया है और उन्हें खाने के लिए भी मोहताज होना पड़ रहा है.
 
भागलपुर से खबर है कि डीआईजी विकास वैभव में लोगों से शांति व्यवस्था बहाल करने की अपील की. डीआईजी ने कहा कि जिस तरह से उपद्रवियों द्वारा शनिवार को देवी की प्रतिमा पर पथराव किया था उस वजह से साम्प्रदायिक सौहार्द बिगड़ा था और प्रशासन की काफी सूझबूझ से शांति व्यवस्था बहाल की गई है. इस पूरी घटना में चार दिनों के मामलों में कुल छह प्राथमिकी दर्ज हुई है और कुल 40  लोगों की गिरफ्तारी भी की गई है. डीआईजी ने कहा कि घटना के बाद माहौल को बिगाड़ने एवं साम्प्रदायिक विवाद पैदा करने वालों को बक्सा नहीं जाएगा.
 
कई पुलिस वालों पर कार्रवाई ,थानाध्यक्ष को किया गया लाईन हाजीर
जमुई के टाउन थाना के थानाध्यक्ष संजय कुमार को पूरी घटना में लापरवाही बरतने एवं विधि व्यवस्था कायम रख पाने में असमर्थ रहने के कारण लाईन हाजिर कर दिया गया है.
VIDEO: बिहार के दो नेताओं आर्थिक आंक़डों पर भिड़े
 
कटिहार में भी आपसी विवाद के बाद दो गुटों के बीच तनाव हो गया था. मंगलवार को इस तनाव ने यहां उग्र रूप ले लिया था. जहां तहां लोगों ने आगजनी कर दी थी. पथराव की भी घटना हुई थी. इसे देखते हुए शहर की सुरक्षा के लिए आईटीबीपी की दो बटालियनों की तैनाती कर दी गई. वहीं चौक-चौराहों पर जवानों को तैनात कर दिया गया था. शहर में इंटरनेट सेवा को भी बंद कर दिया था. लेकिन स्थिति नहीं संभलते देख आनन-फानन में बिहार पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी डीजी गुप्तेश्वर पांडेय व आईएएस प्रत्यय अमृत को हेलीकॉप्टर से कटिहार भेजा गया. उन्होंने वहां पर स्थिति का जायजा लेने के बाद कई समितियों और मोहल्ला वासियों से मुलाकात कर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement