NDTV Khabar

सरकार ने संसद में दी जानकारी, बिहार-झारखंड में नक्सलियों की करोड़ों रुपये की संपत्ति जब्त

बिहार और झारखंड के अलग-अलग शहरों में हुई कार्रवाई के दौरान करोड़ों रुपये की नक्सलियों की संपत्तियां कुर्क की गई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सरकार ने संसद में दी जानकारी, बिहार-झारखंड में नक्सलियों की करोड़ों रुपये की संपत्ति जब्त

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. बिहार में सवार्धिक 32 संपत्तियां जब्त की गई
  2. इनकी कीमत 6.44 करोड़ रुपये आंकी गई है
  3. झारखंड के चार जिलों में सात संपत्तियां जब्त हुई
नई दिल्ली: बिहार और झारखंड के अलग-अलग शहरों में हुई कार्रवाई के दौरान करोड़ों रुपये की नक्सलियों की संपत्तियां कुर्क की गई हैं. गृह मंत्रालय के तरफ से ये आंकड़ें जारी किए गए हैं. मंत्रालय की ओर से इस बारे में संसद में पेश किये आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक इस साल मार्च तक जांच एजेंसियों ने बिहार और झारखंड में नक्सलियों की 37 चल अचल संपत्तियां जब्त की हैं. गैरकानूनी गतिविधि निरोधक कानून की धारा 25 के तहत की गई इस कार्रवाई के दौरान बिहार में सवार्धिक 32 संपत्तियां जब्त की गईं. इनकी कीमत 6.44 करोड़ रुपये आंकी गई है. वहीं झारखंड के चार जिलों (रांची, चतरा, हजारीबाग और गिरिडीह) में सात संपत्तियां कुर्क या जब्त की गईं हैं. इसकी कीमत 1.38 करोड़ रुपये है.

यह भी पढ़ें ः 
बिहार के जमुई में नक्सलियों ने 3 लोगों की गला रेतकर हत्या की
छत्तीसगढ़ : कांकेर में नक्सलियों ने मजदूरों को बंधक बनाकर 19 गाड़ियां में आग लगाई

सबसे ज्यादा कार्रवाई औरंगाबाद में 

रिपोर्ट के मुताबिक बिहार में जब्त की गयी 32 संपत्तियों में सर्वाधिक 17 संपत्तियां औरंगाबाद जिले में पायी गयी। रिपोर्ट के मुताबिक जब्त की गयी ये संपत्तियां साल 2010 के बाद अर्जित की गयी हैं। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दोनों राज्यों की राजधानी पटना और रांची के अलावा अन्य बड़े शहरों में महत्वपूर्ण जगहों पर नक्सलियों द्वारा संपत्ति जुटाये जाने के मामले सामने आने पर जांच एजेंसियां चौकन्ना हो गयी है। एजेंसियां अब इस बात का पता लगा रही हैं कि ये संपत्तियां खरीद फरोख्त के जरिये अर्जित की गयी या इन्हें संपत्ति मालिकों को डरा धमका कर हासिल किया गया।

वीडियो देखें : छत्तीसगढ़ में 'ऑपरेशन प्रहार' में 14 नक्सली मारे गए


जहानाबाद और मुंगेर में भी कुर्की

टिप्पणियां
आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक जब्त की गई संपत्तियों की कीमत एक करोड़ से लेकर 25 हजार रुपये तक है. इनमें सर्वाधिक कीमती संपत्ति सीतामढ़ी के रीगा पुलिस थाना क्षेत्र में जब्त की गई है. इसकी कीमत बाजार दर पर एक करोड़ रुपये आंकी गई है. बिहार में जब्त की गई अन्य संपत्तियों की कीमत भी 75 लाख रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक है. हालांकि नक्सली हिंसा प्रभावित जहानाबाद जिले में 27.50 लाख और 74 हजार रुपये की दो संपत्तियां जब्त की गई हैं. इसके अलावा मुंगेर में छह, सीतामढ़ी में तीन, जमुई में दो और पटना एवं गया में एक एक संपत्ति कुर्क या जब्त की गई है.
 
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement