NDTV Khabar

बिहार में शराबबंदी उल्लंघन के मामलों में हर दिन होते हैं 172 लोग गिरफ्तार

बिहार में शराबबंदी कानून तोड़ने पर अप्रैल 2016 से अब तक एक लाख 21 हजार 586 लोग गिरफ्तार किए गए

876 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में शराबबंदी उल्लंघन के मामलों में हर दिन होते हैं 172 लोग गिरफ्तार

बिहार विधान परिषद में सरकार ने बताया कि शराबबंदी उल्लंघन के मामलों में एक लाख से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया.

खास बातें

  1. सरकार की ओर से विधान परिषद में दी गई जानकारी
  2. गिरफ्तार लोगों में से 121542 लोग जेल की हवा खा चुके
  3. उपचुनाव के लिए हो रहे प्रचार में शराबबंदी का मुद्दा छाया
पटना: पूरे विश्व में शायद बिहार एक मात्र ऐसी जगह होगी जहां हर दिन एक-दो नहीं बल्कि एक सौ बहत्तर लोग शराबबंदी के उल्लंघन करने के आरोप में जेल जाते हैं. यह आंकड़ा खुद राज्य सरकार द्वारा बिहार विधान परिषद में दिया गया है.

इन आंकड़ों के अनुसार एक अप्रैल 2016 को बिहार में शराबबंदी लागू की गई थी. तब से छह मार्च 2018 तक 121586 लोग गिरफ्तार हुए और इनमें से 121542 लोग जेल की हवा खा चुके हैं. इसमें पुलिस द्वारा 82372 लोग गिरफ़्तार किए गए और बाकी के 39214 व्यक्ति उत्पाद विभाग द्वारा हिरासत में लिए गए. जहां हजारों की संख्या में लोग जमानत पर रिहा हुए वहीं हजारों व्यक्ति अभी भी जेल की सलाखों के पीछे हैं. गिरफ्तार व्यक्तियों के आंकड़ों का हिसाब करें तो प्रतिदिन का औसत एक सौ बहत्तर लोगों की गिरफ्तारी का होता है.

यह भी पढ़ें : आरजेडी ने किया वादा - हम सत्ता में आए तो वापस होंगे शराबबंदी से जुड़े सभी मामले

राज्य में विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल का आरोप है कि अधिकांश गिरफ़्तार व्यक्ति गरीब हैं या दलित समुदाय से हैं. यही कारण है कि राजद ने अभी से घोषणा कर दी है कि सत्ता में वापस आने पर सभी लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमे वापस लिए जाएंगे ताकि उनकी जेल से रिहाई हो सके. हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस निर्णय से पीछे न हटने की घोषणा सार्वजनिक मंच से कर चुके हैं.

बिहार में उपचुनाव के लिए हो रहे प्रचार में भी यह मुद्दा छाया रहा.जहां राजद ने दलितों और ग़रीबों को अपनी पार्टी से जोड़ने के लिए इस मुद्दे को जमकर उठाया वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी पांचों सभाओं में इसे सरकार की उपलब्धि बताते हुए राजद को यह कहकर घेरने की कोशिश की कि जिन्होंने इस मुद्दे पर शपथ ली वे अब इसका विरोध कर रहे हैं. फिलहाल यह मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के लिए लम्बित है.

विधान परिषद में गुरुवार को बीजेपी सदस्य दिलीप कुमार जायसवाल द्वारा पूछे गए एक तारांकित प्रश्न का उत्तर देते हुए मद्य निषेध एवं उत्पाद मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा शराबबंदी से लेकर गत छह मार्च तक लगभग 6.5 लाख छापेमारी के दौरान दो लाख से अधिक लीटर अवैध शराब जब्त की गई.

टिप्पणियां
VIDEO : 200 करोड़ की शराब पर बुलडोजर

यादव ने बताया कि इस दौरान 16.4 लाख लीटर अवैध विदेशी शराब, 8.23 लाख लीटर देशी शराब जब्त की गई. उन्होंने बताया कि इस इस अवधि के दौरान 11939.7 लीटर बीयर, 37911.7 लीटर ताड़ी भी जब्त की गई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement