बिहार: आंसरशीट चेक नहीं करने पर टीचरों को किया गया सस्पेंड, दो साल पहले मर चुके टीचर का नाम भी लिस्ट में

कॉन्ट्रेक्ट पर सेवाएं दे रहे टीचर स्थायी पद की मांग करते हुए 17 फरवरी से हड़ताल पर चले गए हैं.

बिहार: आंसरशीट चेक नहीं करने पर टीचरों को किया गया सस्पेंड, दो साल पहले मर चुके टीचर का नाम भी लिस्ट में

प्रतीकात्मक तस्वीर.

पटना:

बिहार शिक्षा विभाग ने इंटरमीडिएट के छात्रों की कॉपियां चेक नहीं करने पर अध्यापकों को सस्पेंड किया है. इस लिस्ट में उस अध्यापक का नाम भी शामिल है, जिनका निधन दो साल पहले हो गया था. पिछले महीने ही बिहार बोर्ड के इंटरमीडिएट का एग्जाम हुआ था. बेगूसराय जिला शिक्षा अधिकारी के दफ्तर से 28 फरवरी को आदेश जारी कर कॉपी चेक नहीं करने वाले अध्यापकों को सस्पेंड कर दिया गया. इस आदेश में दो साल पहले जिस अध्यापक रंजीत कुमार यादव का निधन हो गया था, उनका नाम भी इसमें शामिल है. आदेश में कहा गया है कि उन्हें बेगूसराय स्थित एक सेंटर पर कॉपियां चेक करनी थीं.

बता दें, कॉन्ट्रेक्ट पर सेवाएं दे रहे टीचर स्थायी पद की मांग करते हुए 17 फरवरी से हड़ताल पर चले गए हैं. ऐसी कई घटनाएं देखने को मिली हैं, जहां जिन अध्यापकों की ड्यूटी कॉपी चेक करने के लिए लगाई गई है, अगर वह सेंटर पर जाते हैं तो उनके साथ प्रदर्शनकारियों ने मारपीट की. ऐसे में कई अध्यापक कॉपी चेक करने के लिए सेंटर पर जाने से बच रहे हैं.

प्रशांत किशोर ने CM नीतीश कुमार से पूछा सवाल- 15 साल के आपके "सुशासन" के बावजूद बिहार आज भी गरीब और पिछड़ा क्यों?

बिहार शिक्षा विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर अमित कुमार ने इस मामले को संज्ञान में लिया और कहा जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

पार्टी कार्यकर्ताओं से बोले नीतीश कुमार, 2010 प्रारूप के आधार पर होगा एनपीआर, विधानसभा चुनाव में मिलेंगी 200 से ज्यादा सीटें

वीडियो: नीतीश कुमार का ऐलान, बिहार में नहीं लागू होगा NRC

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com