Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

बिहार : नीतीश कुमार ने 'जल जीवन हरियाली' अभियान शुरू किया

मुख्यमंत्री ने अभियान की शुरुआत पश्चिम चम्पारण के गांव चंपापुर से की, तालाब और नदी का निरीक्षण किया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार : नीतीश कुमार ने 'जल जीवन हरियाली' अभियान शुरू किया

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल जीवन हरियाली अभियान शुरू किया.

पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को जल जीवन हरियाली अभियान की शुरुआत की. इस अभियान की शुरुआत उन्होंने पश्चिम चम्पारण के गांव चंपापुर से की. उन्होंने वहां के तालाब और नदी का निरीक्षण किया. नीतीश अपनी हर यात्रा चंपारण से शुरू करते हैं.

नीतीश कुमार ने इस अभियान की शुरुआत यूं तो दो अक्टूबर को की थी लेकिन इसके अंतर्गत चल रही योजनाओं का निरीक्षण करने के लिए उन्होंने अब पूरे राज्य का दौरा करने का विस्तृत कार्यक्रम जारी किया है. इस अभियान के पीछे नीतीश कुमार ने तर्क दिया कि इस वर्ष जो असमय राज्य के 280 प्रखंड सूखे से प्रभावित हुए और भू जलस्तर अधिकांश ज़िलों में काफ़ी नीचे चला गया. अब इस बात में कोई संदेह नहीं रहा कि अगर पर्यावरण के संतुलन के बारे में तत्काल कोई क़दम नहीं उठाए तो आने वाले दिनों में पूरे राज्य में भयंकर जल संकट से लोगों को रूबरू होना पड़ सकता है.

नीतीश ने कहा कि तीन वर्षों के अंदर इस पूरे अभियान पर क़रीब 24 हज़ार करोड़ ख़र्च किया जाएगा. इसके अंतर्गत कई करोड़ पौधों का रोपण किया जाएगा. साथ ही पानी के परंपरागत स्रोत जैसे तालाब, पोखर, कुओं का जीर्णोद्धार किया जाएगा.


टिप्पणियां

अभी तक इस अभियान के अंतर्गत राज्य में 93,643 जल स्रोत शामिल हैं. उनका सर्वेक्षण कार्य पूरा किया गया है. सरकार ने पाया कि क़रीब 10 हज़ार जल स्रोतों पर कच्चा अतिक्रमण है. नीतीश कुमार का मानना है कि जैसे उनके हर घर बिजली और हर घर नल का जल योजना को केंद्र और अन्य राज्य सरकारों ने अपनाया वैसे ही देर सबेर इस योजना को भी केंद्र और राज्य सरकारें अपनाएंगी. इस योजना के हर कार्यक्रम में सभी दलों के विधायक और नेताओं को आमंत्रित कर समीक्षा बैठक में उनकी राय जानने का प्रावधान भी है.

राज्य सरकार के सम्बंधित अधिकारियों का कहना है कि बिहार के सामने आज जलवायु परिवर्तन तथा हवा-पानी तक को जहरीला बनाने वाले प्रदूषण से निपटना सबसे बड़ी चुनौती है, इसलिए राज्य सरकार ने कारगर तरीके से इसका मुकाबला करने का बड़ा फैसला किया. जल-जीवन-हरियाली योजना तेजी से लागू की जा रही है. तीन साल में 7.5 करोड़ पौधे लगाकर ग्रीन कवर 17 फीसद तक करने पर काम चल रहा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... ए आर रहमान की बेटी के बुर्का पहनने पर तसलीमा नसरीन ने उठाया था सवाल, अब पिता ने यूं दिया जवाब

Advertisement