NDTV Khabar

बिहार की बोर्ड परीक्षाओं में छात्रों के अंक बढ़ाने का फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि टीम द्वारा संकलित जानकारी पर यह स्पष्ट हुआ कि यह गिरोह जिला शेखपुरा के रहिंचा गांव एवं इसके आस-पास के गांव से चल रहा है.

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार की बोर्ड परीक्षाओं में छात्रों के अंक बढ़ाने का फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

पटना पुलिस ने गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए इसके तीन सदस्यों को धर दबोचा है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

खास बातें

  1. फेल होने का भय दिखाकर बैंक खाते में पैसे डालने के लिए कहते थे.
  2. एक विशेष टीम का गठन कर गिरोह को पकड़ा गया.
  3. शेखपुरा के रहिंचा गांव एवं इसके आस-पास के गांव से चल रहा था गिरोह.
पटना: पटना पुलिस ने विद्यार्थियों और अभिभावकों को फोन कॉल कर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित परीक्षाओं में अंक बढ़वाने के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए इस गिरोह के तीन सदस्यों को धर दबोचा है.

वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने पत्रकारों को बताया कि लगातार भारी संख्या में शिकायतें प्राप्त हो रही थी कि बिहार इन्टरमीडिएट काउंसिल एवं बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना के परीक्षाफल में अंक बढ़वाने के नाम पर कई विद्यार्थियों एवं अभिभावकों को फोन कॉल जा रहे थे. इसमें उन्हें फेल होने का भय दिखाकर बैंक खाते में पैसे डालने के लिए कहा जा रहा था.

उन्होंने कहा कि इस सन्दर्भ में कई प्राथमिकी भी दर्ज की गई है. मामले की गंभीरता को देखते हुए एक विशेष टीम का गठन किया गया, जिसमें विशिष्ट आसूचना इकाई पटना के पदाधिकारियों, कर्मियों को शामिल किया गया.

मनु महाराज ने बताया कि गठित टीम द्वारा लगातार अभ्‍यर्थियों से संपर्क कर संबंधित आसूचना का संकलन, दिए जा रहे बैंक खाते की जानकारी, फोन-कॉल की निगरानी एवं गोपनीय सूचनाओं को संकलित किए जाने के क्रम में टीम के सामने एक विशेष बात आई कि यह गिरोह नालंदा एवं शेखपुरा जिला के सीमावर्ती क्षेत्रों में सक्रिय है.

उन्होंने कहा कि तत्काल इस सूचना पर टीम द्वारा संकलित जानकारी पर यह स्पष्ट हुआ कि यह गिरोह जिला शेखपुरा के रहिंचा गांव एवं इसके आस-पास के गांव से चल रहा है. गिरोह के सदस्य प्रतिदिन कई गुट बनाकर बगीचे, खेत अथवा किसी वीरान मकान में बैठकर फोन-कॉल करते थे.

टिप्पणियां
मनु महाराज ने बताया कि इस सूचना के प्राप्त होते ही टीम द्वारा सादे लिबास में वांछित जगह की घेराबंदी कर घात लगाने पर जैसे ही वहां पांच कॉलर एकत्र हुए, टीम द्वारा जिनमें से तीन को घेरकर दस्तावेजों एवं मोबाइल के साथ पकड़ा गया.

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement