NDTV Khabar

बिहार : गया के अंजना हत्याकांड में पुलिस ने किया बड़ा खुलासा, ऑनर किलिंग का दावा

28 दिसंबर को लापता हुई अंजना 31 दिसंबर को घर लौट आई थी, मां-बाप ने उसे फिर उसी लड़के के साथ भेज दिया जिसके साथ वह पहले गई थी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार : गया के अंजना हत्याकांड में पुलिस ने किया बड़ा खुलासा, ऑनर किलिंग का दावा

गया में अंजना हत्याकांड के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया गया.

खास बातें

  1. छह जनवरी की सुबह अंजना की क्षत विक्षत लाश मिली
  2. पुलिस का दावा- यह पूरी तरह ऑनर किलिंग का मामला
  3. समाज से बाहर संबंध को पटवा समाज ने बर्दाश्त नहीं किया
पटना:

गया के चर्चित अंजना हत्याकांड पर एसएसपी राजीव मिश्रा ने चौंकाने वाले तथ्यों का खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि अंजना हत्याकांड पूरी तरह ऑनर किलिंग का मामला बनता है. अंजना हत्याकांड मामले में कोई यह सोच भी नहीं सकता कि उसकी निर्मम हत्या में उसके अपने परिवार वाले शामिल हैं.

पहले भी पटवा समाज ने समाज के खिलाफ बगावत करने वाले के खिलाफ कई बार फतवा जारी किया है. इस बार भी समाज से बाहर अंजना के संबंध को पटवा समाज के लोगों ने बर्दाश्त नहीं किया. अंजना को इसकी सजा अपनी जान गंवाकर चुकानी पड़ी.

बिहार का पटवाटोली गांव अपनी बेटी की मौत पर सदमे में है. 28 दिसंबर से पटवा बुनकर की बेटी अंजना गायब थी. छह जनवरी की सुबह उसकी क्षत विक्षत लाश मिली थी. इस घटना के बाद पूरे पटवा समाज ने आंदोलन करके प्रशासन पर हत्यारों तक पहुंचने के लिए दबाव बनाया. हजारों की संख्या में लोगों ने मौन जुलूस और कैंडल मार्च निकालकर अपना विरोध दर्ज कराया.


यह भी पढ़ें : बिहार: गया में 16 साल की छात्रा का गला काटकर मर्डर, एसिड से जलाया चेहरा, पुलिस के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

अंजना हत्याकांड पर से पर्दा हटाते हुए आज एसएसपी राजीव मिश्रा ने बड़ा खुलासा किया है. मिश्रा ने बताया कि अंजना की मौत के लिए पूरी तरह उसका अपना परिवार ही जिम्मेदार है. 28 दिसंबर को लापता हुई अंजना 31 दिसंबर को घर लौट आई थी. अंजना की मां और बहन के कन्फेशन के आधार पर एसएसपी राजीव मिश्र ने बताया कि अंजना के माता-पिता को पता था कि अंजना किस लड़के के साथ गई है. उसके माता-पिता द्वारा ही उस लड़के के साथ दुबारा भेजे जाने का सनसनीखेज खुलासा एसएसपी ने किया है.

उन्होंने बताया कि यह मामला पूरी तरह ऑनर किलिंग का है. मिश्रा ने बताया कि अंजना के पिता ने बताया था कि 28 दिसंबर की रात में अंजना के लापता होने के बाद चार तारीख को गया के बुनियाद गंज थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया गया था. अंजना के माता-पिता पुलिस में मामला दर्ज नहीं कराना चाहते थे. अंजना 31 दिसंबर को वापस आ गई थी.

यह भी पढ़ें : प्रेमी के साथ घर से भागी बहन तो भाई ने कर दिया सर कलम करने का ऐलान और फिर...

मिश्रा ने बताया कि अंजना की मां और बहन के कन्फेशन रिकॉर्ड में इन बातों का खुलासा किया गया है. 31 दिसंबर को अंजना के पिता ने लड़के को बुलाकर अंजना को उसके साथ भेज दिय था. फिर छह जनवरी को अंजना का शव मिलने की खबर पुलिस को मिली.

पुलिस ने बताया कि अंतिम बार 31 दिसंबर को अंजना को जीवित अवस्था में उसके परिवार वालों के साथ देखा गया था. बहरहाल पुलिस अंजना के परिवार के तीन सदस्यों सहित हत्या में शामिल एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

VIDEO : रांची में छात्रा की हत्या, ऑनर किलिंग का मामला

टिप्पणियां

एसएसपी मिश्रा ने बताया कि लाश को देखने से प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि तीन-चार दिन पहले अंजना की हत्या कर दी गई थी. पुलिस पूरे मामले को ऑनर किलिंग के दृष्टिकोण से खंगाल रही है. एसएसपी मिश्रा ने दावा किया है कि अंजना हत्याकांड पर से पूरा पर्दा शीघ्र ही हट जाएगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
 Share
(यह भी पढ़ें)... ईवीएम को हैक करने के दावों में कितना दम?

Advertisement