NDTV Khabar

बिहार पुलिस का दावा- माओवादी नेता लेवी वसूल कर बनाते हैं निजी संपत्ति, ईडी को लिखा पत्र

माओवादी नेता की संपत्ति ज़ब्त करने के लिये अब प्रवर्तन निदेशालय को बिहार पुलिस ने पत्र लिखा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार पुलिस का दावा- माओवादी नेता लेवी वसूल कर बनाते हैं निजी संपत्ति, ईडी को लिखा पत्र

फाइल फोटो

पटना: ये बात किसी से छिपी नहीं कि माओवादी नेता  हर साल लेवी के रूप में करोड़ों वसूलते हैं. बिहार पुलिस का दावा है कि इस पैसे से ये निजी संपत्ति बनाते हैं. आजकल ऐसे ही माओवादी नेता की संपत्ति ज़ब्त करने के लिये अब प्रवर्तन निदेशालय को बिहार पुलिस ने पत्र लिखा है. पुलिस ने दो नक्सली नेताओं संदीप यादव और प्रद्यमन शर्मा की जांच कर उनकी संपत्ति खंगाली है. जिसमें उनके द्वारा रियल इस्टेट में निवेश, ग्रामीण इलाक़ों में ज़मीन और सम्बन्धियों के नाम से दुकान और कुछ पैसा खपाने के लिये स्कूल खोल रखा है. 

नेपाल में प्रचंड की माओवादी पार्टी तत्काल सरकार से बाहर नहीं आएगी : रिपोर्ट

टिप्पणियां
प्रवर्तन निदेशालय को दिए गये ब्यौरे में प्रमुख रूप से संदीप यादव की संपत्ति के बारे में बताया गया हैृ जो बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमिटी का प्रमुख है और उसे पुलिस 88 मामलों में खोज रही है. इनका एक बेटा पटना में इंजीनियरिंग और दूसरा बेटा रांची में पढ़ रहा है. इनके पास रांची में 30 लाख का भुगतान कर एक फ़्लैट, क़रीब 50 लाख का रुपये ता ज़मीन में निवेश और पत्नी के नाम पर लाखों रुपये बैंक में जमा किए गए हैं. दामाद दिल्ली में एक स्कूल चलाता है जो पुलिस  के अनुसार संदीप की लेवी की कमाई से शुरू किया गया है. 

वीडियो :  जमानत पर छूटे बस्तर के पत्रकार संतोष यादव
इसके अलावा स्पेशल एरिया कमिटी मगध ज़ोन के प्रभारी प्रद्मन शर्मा के पास भी 37 लाख के ज़मीन के अलावा भाई के नाम से बैंक में लाखों जमा हैं और इनके बच्चे भी  महंगे संस्थानो में पढ़ते हैं. ये माओवादी नेता अपनी कमाई का श्रोत भी नहीं बता पाते हैं. इससे साफ़ है कि ये सब लेवी की कमाई का हिस्सा है. प्रवर्तन निदेशालय का कहना है कि अगर उनकी जांच में इन संपत्तियों के श्रोतों के बारे में पूछे जाने पर जवाब से संतुष्ट नहीं कर पाए तो इसे जब्त कर लिया जाएगा. वहीं सरकार  भी इनकी संपत्ति को सार्वजनिक कर नक्सलियों से सहानुभूति रखने वाले लोगों के बीच भी संदेश देना चाहती हैं कि कैसे ग़रीबी के नाम पर ग़रीबों का शोषण कर ये नेता अपना घर परिवार के नाम पर संपत्ति अर्जित कर रहे हैं. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement