NDTV Khabar

बिहार: गया में 16 साल की छात्रा का गला काटकर मर्डर, एसिड से जलाया चेहरा, पुलिस के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

छात्रा 28 दिसंबर को लापता हुई थी. परिजन बुनियादगंज थाने में शिकायत दर्ज कराने गए, लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया और तीन-चार दिन तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की.

4.9K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार: गया में 16 साल की छात्रा का गला काटकर मर्डर, एसिड से जलाया चेहरा, पुलिस के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

प्रदर्शन करते लोग.

खास बातें

  1. पुलिस पर लापरवाही का आरोप
  2. छात्रा का गला काटकर मर्डर
  3. 28 दिसंबर को हुई थी लापता
गया:

बिहार (Bihar)के गया में एक 16 साल की छात्रा का गला काटकरहत्या (Murder)कर दी गई, साथ ही उसका चेहरा एसिड से जला दिया गया. पांच दिन पहले छात्रा के शव के टुकड़े मिले थे. छात्रा गया के पटवा टोली की रहने वाली थी, परिजनों ने रेप का आरोप भी लगाया है. हालांकि, पुलिस (Bihar Police) ने इसे ऑनर किलिंग बता रही है. दोषियों के गिरफ्तार न होने और कार्रवाई में देरी के विरोध में लोग शहर में सड़कों पर उतरे हैं. पिछले पांच दिनों से शहर में तनाव का माहौल बना हुआ है. बुधवार को भारी संख्या में पुलिस के खिलाफ लोग सड़क पर उतरे थे. सैकड़ों की संख्या में हाथों में मोमबती लेकर प्रदर्शन करते हुए न्याय की मांग कर रहे थे. प्रदर्शन करने वालों का कहना है कि पुलिस इस मामले को हल्के में ले रही है.

छात्रा 28 दिसंबर को लापता हुई थी. परिजन बुनियादगंज थाने में शिकायत दर्ज कराने गए, लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया और तीन-चार दिन तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की. चार जनवरी को छात्रा के लापता होने का मामला दर्ज किया गया. इसके बाद छह जनवरी को छात्रा का शव मिला. छात्रा का सिर उसके धड़ से अलग था. पहचान मिटाने के लिए छात्रा का चेहरा एसिड से जला दिया गया था. इसके साथ ही उसकी छाती को तेज धारदार हथियार से रेता हुआ था. 


दिल्ली से बिहार जा रही थी ट्रेन, मास्क पहन कर घुसे 15 बदमाश, बंदूक के जोर पर 1 घंटे तक 200 यात्रियों को लूटा

वजीरगंज कैंप के डीएसपी अभिजीत सिंह ने कहा कि पीड़ित परिवार जांच में पुलिस का सहयोग नहीं कर रहा है. उन्होंने कहा कि मृतक की बहनों ने बताया कि वह 31 दिसम्बर को वापस घर लौटी थी. लेकिन मां-पिता पुलिस को कुछ भी नहीं बता रहे हैं. उन्होंने कहा कि बुधवार की शाम फिर पीड़ित परिवार से मिलकर खुद मामले की तह तक जाने का प्रयास किया.

बालिका गृह कांड: ब्रजेश ठाकुर सहित 21 के खिलाफ CBI की चार्जशीट- अश्लील गाने सुनाकर बच्चियों से करवाया जाता था डांस, नशे के इंजेक्शन देकर करते थे रेप

सिंह के मुताबिक हत्या के पहले बलात्कार की पुष्टि मेडिकल जांच रिपोर्ट से ही संभव हो पाएगी. उन्होंने कहा कि कई लोगों से पूछताछ की गई है. हालांकि, मामले में अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. 

वहीं गया में सीनियर पुलिस अधिकारी राजीव मिश्रा के मुताबिक 31 दिसंबर को जब छात्रा अपने घर लौटी थी तो उसके पिता ने उसी रात करीब 10 बजे एक युवक के साथ उसे भेजा था. वह युवक उनके परिवार का जानकार था. उस युवक को हिरासत में ले लिया गया है, लेकिन उसने छात्रा की हत्या में शामिल होने की बात नहीं कबूली. लेकिन उसके कॉल रिकॉर्ड्स से यह अंदेशा लग रहा है कि वह संदिग्धों के संपर्क में था. 

बिहार : नाबालिग लड़की से रेप मामले में शख्स को 10 साल की सजा और 25 हजार जुर्माना

टिप्पणियां

VIDEO- बिहार में हुई मॉब लिंचिंग, वृद्ध को उतारा मौत के घाट

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement