NDTV Khabar

बिहार के किसानों ने मक्के की खेती में नया रेकॉर्ड बनाया

बिहार सरकार के कृषि विभाग द्वारा जारी आंकड़े बताने के लिए काफी हैं. कृषि विभाग द्वारा जारी आकड़े में अपने पांच सालों के रेकॉर्ड को तोड़ते हुए बिहार के किसानों ने मक्के की खेती में नया रेकॉर्ड बनाया है.

25 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार के किसानों ने मक्के की खेती में नया रेकॉर्ड बनाया

नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में भले ही महागठबंधन की सरकार चली गयी और भाजपा के नेता ये दावा करते हैं कि जब से वो वापस आए हैं, विकास वापस अजेंडा पर आ गया हैं. बिहार सरकार के कृषि विभाग द्वारा जारी आंकड़े बताने के लिए काफी हैं. कृषि विभाग द्वारा जारी आकड़े में अपने पांच सालों के रेकॉर्ड को तोड़ते हुए बिहार के किसानों ने मक्के की खेती में नया रेकॉर्ड बनाया है.

शरद यादव और अली अनवर की जा सकती है राज्यसभा की सदस्यता?
 
बिहार सरकार द्वारा जारी कृषि विभाग के रिपोर्ट में 2016 -17 में 185 . 61 लाख टन अनाज का उत्पादन हुआ है जो कि 2012 -13 के पुराने रेकॉर्ड से लगभग 7 लाख टन अधिक है. 2012 -13  में 178.29 लाख टन का अनाज का उत्पादन हुआ था. इसमें सबसे ज्यादा मक्के के उत्पादन में 53 . 53 क्विंटल प्रति हेक्टयर उत्पादन हुआ है जो पिछले वार की तुलना में 15 क्विंटल प्रति हेक्टयर उत्पादन बढ़ गया है.

बता दें कि पहले मक्का की खेती केवल उत्तर बिहार एवं पूर्वी बिहार के कुछ इलाकों में होती थी लेकिन पिछले दो साल से सरकार ने दक्षिण बिहार के कुछ क्षेत्रों में इस खेती का नया प्रयोग शुरू किया और सरकार का यह प्रयोग सफल रहा. इससे 20 हजार एकड़ खेती का रकबा बढ़ा तो मक्का का उत्पादन लगभग 10 लाख टन और उत्पादकता लगभग 15 क्विंटल प्रति हेक्टयर बढ़ गई.

VIDEO- बीजेपी को गुजरात में कोई खतरा नहीं है : नीतीश कुमार

गौरतलब है कि राज्य में कृषि रोडमैप की शुरुआत के बाद से बिहार को दो बार कृषि कर्मण पुरस्कार मिल चुका है. पिछले बार मक्का उत्पादन में यह पुरस्कार बिहार को मिला था और उम्मीद है कि इस बार भी सरकार इस पुरस्कार का दावा करेगी. यह पुरस्कार देशस्तर पर उत्पादन में सबसे अधिक उछाल वाले अनाज को मिलता है.
 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement