बिहार : अंग्रेजी टीचर, कराटे ट्रेनर, कंपाउडर ने गैंग बनाकर PNB बैंक से की थी 52 लाख रुपये की डकैती, ऐसे हुआ खुलासा

बिहार की राजधानी पटना में पिछले दिनों दिनदहाड़े पंजाब नेशनल बैंक से लूटे गये 52 लाख रुपये की डकैती का मामला सुलझ गया है.

बिहार : अंग्रेजी टीचर, कराटे ट्रेनर, कंपाउडर ने गैंग बनाकर PNB बैंक से की थी 52 लाख रुपये की डकैती, ऐसे हुआ खुलासा

प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना:

बिहार की राजधानी पटना में पिछले दिनों दिनदहाड़े पंजाब नेशनल बैंक से लूटे गये 52 लाख रुपये की डकैती का मामला सुलझ गया है. इस मामले में मुख्य सरगना अमन शुक्ला पुलिस की गिरफ्त में आया है. वह पटना में ही कोचिंग का संचालक है और वहां अंग्रेजी पढ़ाया करता था. जिन पांच लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया हैं उनका प्रोफाइल दिलचस्प हैं. इनके पास से लूटे गये रुपये में से अब तक 33 लाख बरामद हो चुका हैं.

इस गैंग की खासियत यह है कि इसमें किसी का भी आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है, जहां नालंदा का रहने वाला अमन बिना मोबाइल या सोशल मीडिया पर किसी प्रोफ़ाइल की हर वारदात के बाद कोचिंग में बच्चों को पढ़ाकर अपनी पहचान छिपाए हुए था, वहीं दूसरी ओर इस गैंग में एक कराटे प्रशिक्षक, एक क्लीनिक कम्पाउंडर, एक मेकैनिक और दो शराब तस्कर शामिल हैं. इस गैंग ने पुलिस के गिरफ्त में आने के बाद स्वीकार किया कि उन्होंने कई और बैंक डकैती की घटनाओं को अंजाम दिया हैं.


इस मामले का उद्भभेदन करने वाली पुलिस टीम के अनुसार चूंकि पूर्व के मामलों में ये गिरफ्त में नहीं आये थे, इसलिए उन्होंने इस बार इतनी बड़ी घटना को अंजाम दिया. घटना के बाद अमन जिसने इस लूटकांड के अधिकांश पैसे अपने हिस्से में रखे थे, उसने एक लाख के शराब भी ख़रीदे और माना जाता हैं कि वो इस धंधे में भी शामिल था. हालांकि अमन पटना के पहले मुजफ्फरपुर में भी एक कोचिंग में पढ़ाया करता था और अब पुलिस को शक हैं कि उसने वहां भी कुछ वारदात को जरूर अंजाम दिया होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस गैंग की ख़ासियत यह हैं कि कोई मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करता था और ना सोशल मीडिया पर कोई प्रोफ़ाइल था, जिसके कारण किसी को शक नहीं होता था और घटना के बाद सब अपने काम में पहले की तरह सक्रिय हो जाते थे जिससे किसी को शक नहीं होता था.