NDTV Khabar

नक्सलियों से लड़ते हुए शहीद हुए एसआई का परिवार सरकार के रवैये से नाखुश

बिहार के औरंगाबाद जिले में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सब इंस्पेक्टर रोशन कुमार की मौत

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नक्सलियों से लड़ते हुए शहीद हुए एसआई का परिवार सरकार के रवैये से नाखुश

प्रतीकात्मक फोटो.

लखीसराय:

बिहार के दो जवान पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए. लेकिन उससे एक दिन पहले नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में बिहार के ही औरंगाबाद जिले में सब इंस्पेक्टर रोशन कुमार की मौत हुई.

बिहार के लखीसराय जिले के रामगढ़ चौक प्रखंड के अंतर्गत गरसंडा ग्राम के पच्चीस वर्षीय रोशन कुमार कोबरा बटालियन में सब इंस्पेक्टर थे. पिछले बुधवार की रात में वे नक्सलियों से दो-दो हाथ करते हुए शहीद हो गए. इस मुठभेड़ के दौरान एक पत्थर पर उनका पैर पड़ा और वे जख्मी हो गए. हालांकि उन्हें तुरंत हेलीकॉप्टर से पटना पहुंचाया गया लेकिन खून अधिक बह जाने के कारण आखिर उनकी जान नहीं बच पाई. उनके पिता मितिलेश कुमार सिंह कहते हैं कि वे नहीं चाहते थे कि रोशन कुमार किसी बल में जाएं.

रोशन कुमार के परिवार वालों को इस बात का मलाल है कि भले ही उनका बेटा नक्सलियों से लड़ते-लड़ते शहीद हुआ लेकिन सामान्य प्रोटोकॉल के तहत ही उसे अंतिम विदाई दी गई. जबकि कश्मीर में CRPF के शहीद जवानों के सम्मान में कोई कसर नहीं छोड़ी गई.


टिप्पणियां

मितिलेश कुमार सिंह  ने कहा कि ‘किसी के देने से कुछ सम्मान थोड़ी मिलता है. हम उसके लिए लालायित या आकांक्षा नहीं रखते हैं. वो सब सरकार का काम है.'

हालांकि अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कहना है कि चाहे कश्मीर में या नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में, शहीद होने वाले जवानों या अधिकारियों, सबको एक समान सहायता और अन्य सुविधाओं की नीति की जल्द ही घोषणा की जाएगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement