NDTV Khabar

कश्मीर पर आखिर सुशील मोदी ने नीतीश कुमार को सलाह दे डाली

कहा- नई संवैधानिक और राजनीतिक सच्चाई स्वीकार करते हुए सभी दलों को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास के लिए काम करना चाहिए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीर पर आखिर सुशील मोदी ने नीतीश कुमार को सलाह दे डाली

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. जनता दल यूनाइटेड ने आर्टिकल 370 को हटाने का किया विरोध
  2. जेडीयू ने विरोध ज़ाहिर कर सदन का बहिष्कार किया था
  3. नीतीश को सहयोगियों और समर्थकों से सलाह और नसीहत मिल रही
पटना:

पिछले दो दिनों से बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार को आर्टिकल 370 के मुद्दे पर विरोधियों से ज़्यादा अपने सहयोगियों और समर्थकों से सलाह और नसीहत मिल रही हैं. हर मुद्दे पर राजद को कोसने वाले नीतीश कुमार मंत्रिमंडल के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी इस मुद्दे पर नीतीश कुमार को कुछ सलाह दी है. हालांकि सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में नीतीश कुमार या उनकी पार्टी जनता दल यूनाइटेड का नाम तो नहीं लिया, लेकिन कहा है कि संविधान की धारा 370 के सारे आपत्तिजनक प्रावधान समाप्त करने और दो केंद्र शासित प्रदेशों के गठन पर संसद की मुहर के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जब इसे लागू करने वाली अधिसूचना भी जारी कर दी, तब नई संवैधानिक और राजनीतिक सच्चाई स्वीकार करते हुए सभी दलों को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास के लिए काम करना चाहिए.


निश्चित रूप से सुशील मोदी ने जिस प्रकार राजनीतिक सच्चाई स्वीकार करने की बात कही है, उनका इशारा नीतीश कुमार की तरफ़ है. उनकी पार्टी ने राज्यसभा और लोकसभा में इस मुद्दे पर भाषण में अपना विरोध ज़ाहिर कर सदन का बहिष्कार किया. मोदी ने कहा कि आज जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद की ताबूत में आखिरी कीलें ठोंकी जा रही हैं और लद्दाख नई भू-राजनीतिक पहचान के साथ उभर रहा है.

आर्टिकल 370 हटाने के मुद्दे पर अब नीतीश की पार्टी पड़ी नरम, रुख बदलने का यह है कारण

मोदी ने यह भी कहा कि अच्छी बात है कि कश्मीर संबंधी बिल का विरोध करने वाली कांग्रेस में राहुल गांधी से अलग राय रखने वालों की लाइन गहरी हो रही है. जनार्दन द्विवेदी, भुवनेश्वर कलिता के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी लगने लगा है कि धारा 370 को हटाना उचित है. ईमानदार पुनर्विचार हमेशा एक अच्छा विकल्प खोलता है.

VIDEO : धारा 370 हटाना बीजेपी का एजेंडा, जेडीयू का नहीं

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement