अनंत सिंह जैसे बाहुबलियों के लिए महागठबंधन में कोई जगह नहीं : तेजस्वी यादव

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने साफ कहा कि अनंत सिंह एक बेड एलिमेंट हैं, उनको पार्टी में नहीं आने देंगे; हमारी विचारधारा के विपरीत है उनकी विचारधारा

अनंत सिंह जैसे बाहुबलियों के लिए महागठबंधन में कोई जगह नहीं : तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव ने कहा है कि अनंत कुमार जैसे बाहुबली नेताओं को महागठबंधन में नहीं आने देंगे.

खास बातें

  • मोकामा से निर्दलीय विधायक हैं बाहुबली अनंत सिंह
  • सिंह ने घोषणा की थी कि वे मुंगेर सीट से एनडीए के उम्मीदवार बनेंगे
  • एनडीए के ललन सिंह के खिलाफ लड़ना चाहते हैं अनंत सिंह
पटना:

बिहार के उन बाहुबलियों के लिए जो एनडीए के खिलाफ महागठबंधन से लोकसभा में टिकट के दावेदार थे, एक बुरी खबर है. विपक्ष के नेता और बिहार में महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने एक बाहुबली और मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह की उम्मीदवारी के बारे में पूछे जाने पर साफ कहा कि हमारी पार्टी में ऐसे लोगों के लिए कोई जगह नहीं है.

तेजस्वी ने शुक्रवार को रांची रवाना होने से पहले पटना में पत्रकारों से बातचीत की. उनसे पूछा गया कि क्या अनंत सिंह मुंगेर सीट से महागठबंधन के टिकट पर चुनाव मैदान में आना चाहते हैं. इस पर तेजस्वी का जवाब था कि अनंत सिंह एक बेड एलिमेंट हैं और उनको हम पार्टी में नहीं आने देंगे. तेजस्वी ने कहा कि जो हमारी विचारधारा है उसके विपरीत उनकी विचारधारा है, इसलिए हमारी पार्टी में ऐसे लोगों के किए कोई जगह नहीं हैं.

यह भी पढ़ें : तेजप्रताप ने दूसरे दिन भी लगाया जनता दरबार, कहा- पार्टी में कुछ RSS जैसी सोच वाले लोग हैं...

इससे पूर्व अनंत सिंह ने घोषणा की थी कि वे मुंगेर सीट से एनडीए के उम्मीदवार ललन सिंह के खिलाफ प्रत्याशी बनना चाहते हैं. एक जमाने में ललन सिंह के नजदीकी माने जाने वाले अनंत आजकल उनसे नाराज चल रहे हैं. लेकिन तेजस्वी के बयान के बाद निश्चित रूप से अनंत के लिए निर्दलीय प्रत्याशी बनने के अलावा कोई विकल्प नहीं है.

VIDEO : बिहार महागठबंधन में सीट बंटवारे पर मिलकर होगा फैसला

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


तेजस्वी यादव ने इससे पहले मधेपुरा से सांसद पप्पू यादव को भी कांग्रेस पार्टी के माध्यम से महागठबंधन में प्रवेश करने का विरोध किया था. इसके बाद कांग्रेस ने उनको नो एंट्री का बोर्ड दिखा दिया. हालांकि माना जाता है कि पप्पू यादव का मामला हो या अनंत सिंह का तेजस्वी ने अपना स्टैंड सार्वजनिक करने के पूर्व राजद अध्यक्ष लालू यादव का रुख जान लिया था.